19 अप्रैल को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर योगी आदित्यनाथ काबिज हुए. मुख्यमंत्री बनने के बाद मई महीने में वे अयोध्या पहुँचे थे. एक बार फिर वे अयोध्या पहुंचे. योगी आदित्यनाथ ने ये भी कहा कि वह पहले रामभक्त हैं और बार-बार अयोध्या आते रहेंगे.

यूपी में योगी सरकार लाई शराब का नया फॉर्मूला, आलू चुकंदर मिक्सचर दूर करेगी बुरी लत

योगी आदित्यनाथ उवाच

योगी आदित्यनाथ


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि वह चाहते हैं कि राम मंदिर का हल सकारात्मक राजनीति के तरीके से निकाला जाए. उनका कहना था,’ इसका हल सकारात्मक राजनीति से निकलेगा. इसीलिए मैं बार बार अयोध्या आता हूँ.

इसी दौरान जब उनसे पूछा गया कि वह पहले रामभक्त हैं या मुख्यमंत्री तो उनका जवाब था,’भाई हम पहले रामभक्त हैं.’

दिगंबर अखाड़े में परमहंस रामचंद्र दास के श्रद्धांजलि समारोह में योगी आदित्यनाथ पहुंचे थे. 12 बजे अयोध्या पहुंचकर पहले वे सरयू किनारे रामचन्द्र दास की समाधि पर पहुंचे, इसके बाद दिगंबर अखाड़े में श्रद्धांजलि में शामिल हुए. इसके अलावा एक जनसभा को भी उन्होंने संबोधित किया.

योगी फरमान: काम में सुस्ती से 10 साल पहले ही चली जायेगी नौकरी

जनसभा में योगी ने अपनी बात फिर दोहराई कि वे पहले रामभक्त हैं और अयोध्या बार-बार आएंगे. अयोध्या ने देश को एक पहचान दी है. उन्होंने यह भी कहा कि मेरे बार-बार अयोध्या आने से किसी को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...