पाकिस्तानी नीति निर्धारकों को तो जैसे अपनी फजीहत करवाने की आदत पड़ गई है।ऐसा ही वाकया संयुक्त राष्ट्र में भी हुआ, तो दुनिया भर के साथ अब अपने घर में भी पाकिस्तान की थू-थू हो रही है। राजनयिक मलीहा लोधी की चूक के बाद सोशल मीडिया पर उनकी जमकर बखिया उधेड़ी गई।

मलीहा को बर्खास्त करने की मांग

यही नहीं पाकिस्तानियों ने प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी से मलीहा को तुरंत बर्खास्त करने की मांग भी कर डाली है। एक पाकिस्तानी ट्विटर यूजर ने लिखा कि मलीहा ने पहले भी कई बार देश की किरकिरी कराई है। उन्होंने राजनयिक पद की साख खो दी है।

देश पर आत्मघाती हमले जैसा

रहीमा नाम की यूजर ने लिखा कि यह देश पर हुए आत्मघाती हमले जैसा था, जिसे आसानी से भुलाया नहीं जा सकता। अहमद गुल ने लिखा कि मलीहा के चेहरे को देखो, फजीहत कराने वाले ऐसे लोग हमारी नुमाइंदगी कर रहे हैं।

राइट टू रिप्लाई के तहत दिखाई तस्वीर

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण के बाद राइट-टू-रिप्लाई (जवाब देने का अधिकार) के तहत संयुक्त राष्ट्र में पाक की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने कश्मीर में कथित ज्यादतियों का दावा करते हुए एक तस्वीर दिखाई। इस झूठी तस्वीर का भारत से कोई लेना-देना ही नहीं था।

भारत की तस्वीर के नाम पर परोसा झूठ

मलीहा ने एक तस्वीर दिखाते हुए कहा कि यह भारत के लोकतंत्र की असली तस्वीर है। इस झूठी तस्वीर में एक लड़की का चेहरा बुरी तरह बिगड़ा हुआ नजर आता है। लोधी ने आरोप लगाया कि भारतीय सुरक्षाबलों की ज्यादती से लड़की की यह हालत हुई।

यूएन में पकड़ा गया पाकिस्तान का झूठ, कश्मीरी बताकर दिखाई फिलिस्तीन की तस्वीर

येरुशलम की जर्नलिस्ट ने खींची फोटो

पाकिस्तान जिस तस्वीर को दिखाकर संयुक्त राष्ट्र में भारत के खिलाफ जहर उगल रहा था, वह दरअसल हीदी लिवाइन नाम की अमरीकी फोटजर्नलिस्ट की है, जो येरुशलम में रहती हैं।

गाजा शहर की घायल लड़की की तस्वीर

हीदी की वेबसाइट के मुताबिक यह तस्वीर गाजा शहर के शिफा अस्पताल में 22 जुलाई 2014 को ली गई थी। इजरायल के दो हवाई हमले में एक परिवार के कई लोग मारे गए, लेकिन 17 वर्षीय पीड़ित लड़की बच गई थी। उसका चेहरा गंभीर रूप से घायल हो गया था।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...