योगी सरकार बनते ही सबसे पहले एंटी रोमियो स्क्वाड बना. इसके तहत जगह-जगह रोमियो धुनाई कार्यक्रम फ्री में देखे जा सकते हैं. भाजपा और योगी समर्थकों ने एक ऐतिहासिक कदम बताया है तो कुछ दबी जुबान में इसका विरोध तो कर रहे हैं, लेकिन भाजपा गठबंधन को मिले इतने भारी-भरकम जनादेश के आगे खुद को दबा हुआ महसूस कर रहे हैं.

एंटी रोमियो स्क्वाड से लैस हो गया यूपी, रोमियोगीरी करने वालों की अब खैर नहीं

वैसे कुछ इसी तरह का रोमियो धुनाई प्रकरण पीलीभीत जिले में 2015 में सामने आया था. यहाँ के विद्यामंदिर में पढ़ने वाली एक लड़की कुछ लड़कों से काफी परेशान थी.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


लड़की ने बताया कि उस पर ये लड़के गंदे कमेंट करते थे और गालियाँ देते थे. लड़की बेचारी काफी दिनों तक बर्दाश्त करती रही. लेकिन न्यूटन बाबा पहले ही बता गये हैं कि हर क्रिया की प्रतिक्रिया होती है.

एक दिन जब उन रोमियो साहब का घड़ा भर गया तो उसके फूटने का वक़्त आ गया. लड़की ने उन लड़कों की बाइक के सामने अपनी साइकिल कुछ इस अंदाज़ में रोकी जैसे चिड़िया ने बाज को ललकारा हो. जगह भी उन लड़कों की होने वाली ससुराल यानी पुलिस चौकी थी.

मुख्यमंत्री को चाहिए नशामुक्त ड्राइवर, योग्यता पान पुड़िया से दूरी

उसके बाद तो बस तड़ापड़…तड़ापड़…तड़ापड़. लड़कों का उसने मार मार कर हाथ मुंह सब लाल कर दिया. जूते भी इतने मिले कि बस जूते का टूटना बाकी रह गया था.

जो लड़का कल तक शेर बनकर उसे छेड़ रहा था, आज वो चूहे से भी गिरी स्थिति में आकर माफ़ी मांगता दिखा. लड़की ने भी उसे लड़कों का ब्याज सहित भुगतान करके आगे की सेवा के लिए पुलिस को सौंप दिया.

इस लड़की का कहना था कि मैं ये नहीं चाहती कि इन लड़कों का करियर बर्बाद हो जाए. बस इतना हो कि इसके बाद सबको ये समझ आ जाये कि अगर किसी भी लड़के ने लड़कियों का पीछा किया तो उसका बाजा बज सकता है.

जींस-टीशर्ट नहीं पहन पाएंगे डॉक्टर और मास्टर, आगे जाने क्या-क्या बंद हो यूपी में

भइया जी अब तो आप समझ गये होंगे कि क्या करना है. अगर नहीं समझे हैं तो आपके उत्तम भविष्य के लिए आपको अग्रिम बधाई.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...