साध्वियों से रेप के दोषी राम रहीम और हनीप्रीत को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. ये खुलासा करने वाली साध्वी हनीप्रीत की जिम ट्रेनर और सहेली है, जिसने बाबा और हनी को लेकर कई राज खोले हैं. हनी की सहेली ने का कहना है कि जब संगत लगती थी, उसी दौरान राम रहीम लड़कियों पर निगाह डाल कर चुन लेता था और रात 10 बजते ही हनीप्रीत को नया मैसेज आ जाता था कि उसे फलां लड़की अपनी गुफा में चाहिए.

राम रहीम और हनीप्रीत का था घिनौना प्लान, अगला डेरा प्रमुख बनता ‘खुदा का बेबी’

हनीप्रीत को नया मैसेज करता था बाबा

हनीप्रीत को नया मैसेज


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


डेरे में हनीप्रीत की सहेली रही एक पूर्व साध्वी (नाम नहीं लिख सकते) का कहना है कि राम रहीम और हनीप्रीत के बीच गलत रिश्ते थे.
उसका कहना है कि लड़की फाइनल करने का सिलसिला संगत लगते समय ही शुरू हो जाता था. राम रहीम लड़कियों पर एक सरसरी नजर डालता था और उसके बाद जो लड़की पसंद आती, उसके लिए रात के 10 बजते ही हनीप्रीत को मैसेज पहुँच जाता और वो लड़की को बाबा की गुफा में ले जाती थी.

लड़कियां सप्लाई करती थी हनी

साध्वी का यह भी आरोप है कि हनीप्रीत ही गुरमीत को लड़कियां पहुंचाने का काम करती थी. साध्वी से जब पूछा गया कि बाबा की गुफा में लड़कियों अंदर भेजने के लिए कौन सा तरीका अपनाया जाता था. बहला-फुसला कर या फिर कोई और तरीका अपनाया जाता था. इस पर जवाब चौंकाने वाला था कि बाबा के पास लड़कियां खुश होकर जाती थीं.

…जब राम रहीम की दरिंदगी से साध्वियों को बचाते थे पीरियड्स

पिताजी की माफ़ी सुनकर खुश हो जाती थीं लड़कियां

साध्वी का कहना है कि हमें पिता जी ने बुलाया है इतना सुनते ही लड़कियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहता था. वे ख़ुशी-ख़ुशी जाती थीं, लेकिन वापसी के वक़्त कुछ बोलती नहीं थीं. न जाने बाबा अंदर ऐसा क्या कर देता था कि लड़की एकदम चुप हो जाती थी. साध्वी का कहना है कि एक बार मुझे भी माफी दिलवाने वाली बात बताई गई थी, लेकिन मुझे पहले से ही पता था कि बाबा अंदर कैसी माफी देता है और क्या-क्या करता है.

साध्वी का कहना है कि डेरे में हनीप्रीत ही बाबा की सबसे बड़ी राजदार थी. हनी की वजह से राम रहीम अपने परिवार से दूर हो गया था. गुरमीत की दो बेटियां हैं, लेकिन वे कभी भी बाबा के साथ नजर नहीं आती थीं.

फिल्मों में पहुंचा बाबा

साध्वी से जब पूछा गया कि हनीप्रीत ने फिल्मों की तरफ रुख कब और क्याें किया. तो उसका कहना था कि सबको पता है कि हनीप्रीत का परिवार गरीब है. फतेहाबाद में उसके माता-पिता किराए के मकान में रहते थे, फिर वे यहाँ डेरे में रहने लगे. डेरे में आने के बाद हनीप्रीत राम रहीम के करीब आई और उसके बाद ही उसकी लाइफ एकदम बदल गई.

जब साध्वी से पुछा गया कि फिल्मों में राम रहीम हनीप्रीत को लेकर गया या फिर हनीप्रीत राम रहीम को फिल्मों में लेकर गयी. इस सवाल के जवाब में साध्वी ने बताया कि हनीप्रीत का पूरे डेरे पर कब्जा था और उसी के कहने पर राम रहीम फिल्मों में गया. हनीप्रीत राम रहीम के साथ चौबीसों घंटे रहती थी. राम रहीम ने भी सब कुछ हनीप्रीत के हवाले कर दिया था. राम रहीम का हर फैसला हनीप्रीत ही लेती थी.

राम रहीम और हनी के बारे में इसलिए नहीं बताया

जब साध्वी से ये पुछा गया कि राम रहीम और हनीप्रीत के बारे में जब इतनी बातें पता थीं तो अब से पहले किसी को बताने की कोशिश क्यों नहीं की. इस पर साध्वी का जवाब था कि हमारी बातों पर कोई भरोसा नहीं करता. राम रहीम के आगे सब सिर झुकाते थे तो हम तो मामूली थे. कोई हमारा भरोसा नहीं करता. साध्वीसे पूछा गया कि अब राम रहीम के खिलाफ बोल रही हो, डर नहीं लगता तो साध्वी का जवाब था, ‘कोई डर नहीं है. अब तो बाबा जेल में है, डेरे में नहीं. दूसरी बात डेरे से दूरी बनाए हुए हमें भी एक साल हो गया.’

सामने आई राम रहीम की नई खौफनाक बीमारी, डॉक्टरों ने कहा-बचाना नामुमकिन

राम रहीम और हनीप्रीत के राज उगलने वाली साध्वी का यूं दोनों के खिलाफ खुलकर बोलना भविष्य में राम र्ताहीम और हनीप्रीत के लिए नुकसानदायक होने वाला है. क्योंकि अब धीरे-धीरे बाबा के खिलाफ स्वर मुखर हो रहे हैं. आने वाले दिनों में बाबा के और भी राज खुल सकते हैं.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...