संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत ने पाकिस्तान को बुरी तरह से दुनिया के सामने बेनकाब किया। इस असर रहा कि पाकिस्तान के सहयोगी और सबसे अजीज दोस्त चीन ने भी अप्रत्यक्ष रूप से स्वीकार किया है कि पाक में आतंकवाद मौजूद है।

फिर भी दोस्त के साथ दिखा ड्रैगन

हालांकि चीन अपनी चालाकी से बाज नहीं आया और एक बार फिर अपने पुराने दोस्त के साथ खड़ा नजर आया। चीन ने संयुक्त राष्ट्र में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण की आलोचना भी की है।

पाकिस्तान को चीन ने दिया बड़ा झटका, कश्मीर पर साथ नहीं देगा


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


भारत ने न्याय का ढिंढोरा पीटा

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित लेख में कहा गया है कि अपने पड़ोसी की मूर्खता और कुरूपता की निंदा करते हुए भारत ने अपनी न्याय और भव्यता का ढिंढोरा पीटा है। यह सोचना कि इस्लामाबाद आतंकवाद का निर्यात करता है, असंतुलित है।

सुषमा स्वराज पर साधा निशाना

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर निशाना साधते हुए अखबार ने लिखा कि संयुक्त राष्ट्र में उनका भाषण पाकिस्तान के प्रति भारत के अहंकार और कट्टरता को दर्शाता है। स्वराज ने ऐसा क्यों माना कि वह आईटी महाशक्ति है और पाक में आतंकवाद को बढ़ावा मिलता है।

चीन में भारत की बड़ी जीत, दोस्त के घर में पाकिस्तान को जोर का झटका

मान लिया कि पाक में आतंकवाद

साथ ही पाक में आतंकवाद की बात को स्वीकार करते हुए लेख में कहा गया, ‘पाकिस्तान में वास्तव में आतंकवाद है। मगर क्या देश की राष्ट्रीय नीति में आतंक का समर्थन किया जा रहा है? पाकिस्तान आतंकवाद का समर्थन करके क्या हासिल कर सकता है?

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...