एक ओर उत्तर प्रदेश चुनाव में भाजपा की जीत के चर्चे हैं, योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने की बात हो रही है. वहीँ दूसरी ओर ज़िक्र कांग्रेस पार्टी के युवराज का भी है.

राहुल ने किया फ़ोन, कहा काम हो गया मोदी जी…जोगीरा सारारारा

सौ साल पुरानी पार्टी की हालत इतनी खराब कभी नहीं रही. कहने को तो राष्ट्रीय अध्यक्ष उनकी माँ सोनिया गाँधी हैं, लेकिन पिछले कई सालों से चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ा जा रहा है.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


ऐसे में जब पार्टी की इतनी करारी हार हुयी हो तो चर्चा भी लाजिमी है.

लेकिन राहुल गांधी की चर्चा की एक वजह से और हो रही है. मध्यप्रदेश के होशंगाबाद में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे विशाल दीवान ने राहुल बाबा के लिए एक अजीबोगरीब रिकॉर्ड का अनुरोध कर डाला है.

रात में कपिल के साथ और दिन में जनता के पास…ठोकों ताली

विशाल ने गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में 27 से ज्यादा चुनाव हारने के लिए राहुल गांधी का नाम रिकॉर्ड में दर्ज करने के लिए अनुरोध किया है. विशाल का मानना है कि पिछले पांच सालों में पार्टी को जिन चुनावों में हार का सामना करना पड़ा है, उनमें राहुल गांधी की सक्रियता अधिक थी.

विशाल ने गिनीज बुक्स प्रशासन को एक पत्र लिखा में इस बात का निवेदन किया है. साथ ही इसके लिए उन्होंने उचित नामांकन शुल्क भी खर्च किया है. गिजीज बुक प्रशासन से भी उन्हें अपने रजिस्टर होने की सूचना मिल गयी है.

किसकी होगी ‘पौं’ बारह और किसके ‘बजेंगे’ बारह, ये चलेगा पता @ग्यारह

अब बस सबकी नज़रें गिनीज बुक के प्रशासन पर हैं कि, वह इस रिकॉर्ड में राहुल का नाम सम्मिलित करता है अथवा नहीं.

वैसे एक बात कहें, कान इधर लाइए, अगर उन्हें ये रिकॉर्ड मिल गया तो कम से कम उनके लिए कुछ तो राहत भरी बात होगी. मम्मी को अपने रिपोर्ट कार्ड की एक उपलब्धि तो दिखा सकेंगे, जो उन्होंने खुद की दम पर हासिल की हुयी होगी.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...