आज अधिकतर सभी लोगों पास स्‍मार्टफोन होता है और उसमें सभी व्‍हॉट्सऐप से अपने दोस्‍तों और रिश्‍तेदारों से चैटिंग करते हैं। आंकड़ों की मानें तो इस समय व्‍हॉट्सऐप करीबन 1 अरब से ज्‍यादा लोग चलाते हैं लेकिन क्‍या आपने कभी सोचा है कि फ्री में सर्विस देने वाले इस व्‍हॉट्सऐप पर कोई विज्ञापन भी नहीं दिखते तो फिर इसकी कमाई कैसे होती होगी और इतनी बड़ी कंपनी चलती कैसे होगी। तो चलिए आज हम आपकी ये दुविधा दूर कर देते हैं और आपको बताते हैं कि सबसे बड़ी इंटरनेट चैटिंग ऐप कैसे पैसा कमाती है, व्‍हॉट्सऐप की कमाई कैसे होती है।

व्‍हॉट्सऐप

व्‍हॉट्सऐप की कमाई

अब व्‍हॉट्सऐप पर फेसबुक का कब्‍जा है। इस कंपनी को फेसबुक ने 2014 में 19 अरब डॉलर में खरीदा था। वहीं माइक्रो एडवरटाइजिंग की बात करें तो फेसबुक आपके बारे में आपसे ज्‍यादा जानता है और इसी जानकारी से कंपनी अपनी कमाई करती है। व्‍हॉट्सऐप के डाटा को फेसबुक देख सकता है और आपको सिर्फ और सिर्फ उन्‍हीं प्रॉडक्‍ट्स के विज्ञापन दिखाता है जिनकी आपको जरूरत हो। हालांकि, व्‍हॉट्सऐप का दावा है कि वो अपनी ऐप के मैसेज किसी के साथ शेयर नहीं करता है।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


कई बार व्‍हॉट्सऐप पर आप अपने दोस्‍तों के साथ किसी प्रॉडक्‍ट का लिंक शेयर करते हैं या आपका कोई दोस्‍त भी ऐसा कुछ आपके साथ शेयर करता है। ऐसे में व्‍हॉट्सऐप के ज़रिए से बात फेसबुक तक पर पहुंचती है कि आपको क्‍या चाहिए या इंटरनेट पर आप क्‍या ढूंढ रहे हैं।

इसके अलावा दूसरी कंपनियों को आपका डाटा बेचकर भी फेसबुक की तगड़ी कमाई करता है और अगर ऐसा होता है भी है तो इसके लिए आप कुछ नहीं कर सकते हैं क्‍योंकि ऐप डाउनलोड करते समय आपके पास एक ऑप्‍शन आता है जिसमें लिखा होता है कि आप इस ऐप से जुड़ी सभी शर्तों और नियमों को स्‍वीकार करते हैं। इस ऑप्‍शन पर क्‍लिक करते ही आप उस ऐप की शर्तों को मंजूर करते हैं। इससे अधिक जानकारी के लिए आप व्‍हॉट्सऐप के लीगल पेज पर जा सकते हैं। अब तो आप समझ गए ना कि फेसबुक पर विज्ञापनों के ज़रिए ही व्‍हॉट्सऐप की कमाई होती है।

अब अगर आप ये सोच रहे हैं कि व्‍हॉट्सऐप का इस्‍तेमाल आपकी जासूसी के काम भी आ रहा है तो इसमें आप कुछ नहीं कर सकते हैं। दोस्‍तों के साथ चैटिंग करने या फोटोज़ शेयर करने का सबसे आसान तरीका है इंटरनेट चैटिंग ऐप। अगर आप ये ऐप इस्‍तेमाल नहीं करेंगें तो कोई और दूसरी चैटिंग ऐप फोन में डालेंगें। होगा तो वही, यहां से नहीं तो कहीं और से आपकी पर्सनल जानकारी कंपनियों तक पहुंच जाएगी इसलिए बेहतर होगा कि जैसे जो चल रहा है वैसे ही चलने दें।

अगर आपको अपनी प्राइवेसी की टेंशन है तो आप व्‍हॉट्सऐप के कस्‍टमर केयर नंबर या ईमेल के द्वारा इससे जुड़ी अधिक जानकारी ले सकते हैं। उम्‍मीद है कि आपको ये जानकारी पसंद आई होगी और इससे आपको ये भी चल पाया होग कि व्‍हॉट्सऐप किस तरह आपकी जानकारी यूज़ करता है।

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...