मोबाइल वालेट और बैंक के बीच लेन-देन की सीमा हटाने की तैयारी है। इससे धन का ट्रांसफर आसान हो जाएगी। रिजर्व बैंक के दिशानिर्देश का मानना है कि इससे मोबाइल वालेट से बैंकिंग लेनदेन तेजी से बढ़ेगा।

बढ़ेगी लेनदेन की सीमा

पेटीएम के पेमेंट्स बैंक का कहना है कि ग्राहकों के लिए मोबाइल वालेट बदलने की सुविधा भी इस पर बेहतर असर डालेगी। पेमेंट्स बैंक की सीईओ रेनू सत्ती का कहना है कि मोबाइल वालेट से बैंक खातों के बीच एक बार में एक लाख रुपये तक भेजे जा सकेंगे।

रिजर्व बैंक ने किया साफ, खातों को आधार से लिंक कराना ही होगा जनाब


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


बैंकिंग लेनदेन होगा आसान

इससे बैंकिंग लेनदेन बेहद आसान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि पेमेंट्स बैंक के ग्राहक भी वालेट से बैंक में नकदी ट्रांसफर कर जमा पर ब्याज का लाभ भी उठा सकते हैं। वालेट की रकम पर ब्याज मिलने से ग्राहक इसमें पैसा डालने को लेकर प्रोत्साहित होंगे।

रिजर्व बैंक का नया फरमान बैंकों को कर देगा हलकान

धोखाधड़ी पर लगेगी नकेल

आरबीआई के निर्देशों के अनुसार, केवाईसी प्रक्रिया में वालेट कंपनियों को ग्राहकों के मोबाइल नंबर के साथ अन्य पहचान का 12 महीने में सत्यापन कराना होगा। सत्ती का कहना है कि इससे पहचान छिपाने, धोखाधड़ी और हवाला कारोबार जैसे अपराधों पर नकेल लगेगी।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...