बॉलीवुड एक्‍टर अर्जुन रामपाल देखने में जितने सीधे-सादे लगते हैं, उनके बहनोई साहब तो बड़े खलीफ़ा निकले। धरे गए, वो भी क्रिकेट सट्टेबाजी के आरोप में। अब देखो, क्‍या–क्‍या होने वाला है इनके साथ।

जी हां, खबर है कि मुंबई क्राइम ब्रांच ने अर्जुन रामपाल के बहनोई अमित अजित गिल को गिरफ्तार कर लिया है। अभी फिलहाल क्रिकेट में सट्टेबाजी करने के आरोप में फंसे अमित से पुलिस पूछताछ कर रही है।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


पढ़ें इसे भी : सिद्धार्थ मल्‍होत्रा ने ठुकराया सलमान खान वाली रेस 3 का ऑफर, ऐसी हो सकती है वजह

वहीं उनके खिलाफ कड़ी करवाई करने के साथ ही पुलिस इस मामले से जुड़े और भी लोगों को धर दबोचने की जद्दोजहद में लगी हुई है। जानकारी के मुताबिक पुलिस इस मामले में सख्ती से पेश आते हुए पिछले एक महीने से कार्यवाही कर रही है।

पढ़ें इसे भी : ‘ठग्‍स ऑफ हिन्‍दुस्‍तान’ से अमिताभ बच्‍चन का वॉरियर लुक उड़ा देगा आपके भी होश

इसके चलते करीब दर्जन भर लोगों को पुलिस ने ठाणे और भांडुप इलाके से अरेस्ट किया है। इसके इतर ये भी बताया जा रहा है कि बांद्रा पुलिस के अरेस्ट किए गए लोगों से अमित का कनेक्शन था। इसके बाद उन्हें भी हिरासत में लिया गया है।

पढ़ें इसे भी : एक बार फिर सील्‍वर स्‍क्रीन पर इश्‍क फरमाते दिखेंगे ऐश और अभिषेक

वहीं इस पूरे मामले में ये भी कहा जा रहा है कि आरोपी ने सट्टेबाजी करने के लिए एक स्पेशल सॉफ्टवेर बनाया है, जिसका सर्वर हॉलैंड में मौजूद है। सट्टेबाजों को इस सर्वर का इस्तेमाल करने के लिए किराया देना पड़ता था।

रखा था पासवर्ड
बताया गया है कि सॉफ्टवेर में पासवर्ड रखा गया था। ताकि अगर पुलिस को बैटिंग करने वाले लोगों के लैपटॉप भी मिले तो वो उससे कुछ भी जानकारी प्राप्त ना की जा सके, लेकिन जब इस केस का भांडाफोड़ हुआ और पुलिस ने सभी से सख्ती से पूछताछ की तब इससे जुड़ी कई और भी बातें सामने आने लगीं।

इस वजह से किया गया ये सब
दरअसल सॉफ्टवेर के डेवेलोपर्स ने इसके आईपी एड्रेस में भी पासवर्ड रखा था। ताकि कोई भी इसे आसानी से न खोल सके। इन्वेस्टीगेटिंग एजेंसीज की जांच पर गौर करें तो पता चला कि जब सीज किए गए लैपटॉप में पुलिस ने छानबीन की तो वो उस सॉफ्टवेर को बिना कोड के नहीं खोल पाए।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...