कपड़े सिलवाने के लिए कभी दर्जी के यहाँ अगर जाना पड़ा हो तब तो आपको पता होगा, कि दर्जी का जन्मसिद्ध अधिकार होता है कि कपड़े कभी भी टाइम पर सिलकर नहीं देने हैं. उन्हीं हालातों को समझाने के लिए फिल्म दर्जी की मर्जी का ट्रेलर हाज़िर है. ट्रेलर की स्टार्टिंग से ही आप हंसना शुरू करेंगे तो 4 मिनट 15 सेकंड तक चलने वाले इस ट्रेलर में आप बस हँसते रहेंगे.

वीडियो: जब कॉमेडियन अरविन्द ने समझाया लुंगी डांस का रियल मीनिंग

दर्जी की मर्जी का ट्रेलर

दर्जी की मर्जी


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


दरअसल पाकिस्तानी शॉर्ट फिल्म दर्जी की मर्जी में एक नया चेला ईद में टाइम पर कपड़े देने के लिए जल्दी जल्दी कपड़े सिलने में लगा है. लेकिन तब तक दूसरा बन्दा आता है और उसे समझाता है कि टाइम पर काम करके नहीं देना है.

तब तक दर्जी मास्टर भी आते हैं और लड़के को तालीम देते हैं कि दर्जी की ही मर्जी चलनी चाहिए और कस्टमर से सटिसफैक्शन ज़रूरी है. जो मजा ग्राहक को परेशान करने में आता है वो और किसी में नहीं आता.

दादा, परदादा के किस्से सुनाते-सुनाते अपने भी सुनाते हैं और 10 साल बाद वही पट्ठा जब दर्जी मास्टर बनता है तो अपने मास्टर का असली चेला साबित होता है.

वीडियो: जब इजराइलियों ने पीएम मोदी का हिन्दी में किया स्वागत

आप भी ये ट्रेलर देखिये और दर्जी की मर्ज़ी सुनिए, सब समझ जायेंगे.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...