पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस सांसद शशि थरूर एक बार फिर से सुर्खियों में हैं. इस बार उनको लेकर एक बुरी खबर है. हर बार ‘जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल’ में शामिल होने जाते हैं. इस बार भी वो इस फेस्टिवल का हिस्सा बनने के लिए सांगानेर हवाई अड्डे पर उतरे लेकिन एक विवाद हो गया. शशि थरूर अपने साथ एक पिस्टल लेकर आए थे, लेकिन इसके बारे में उन्होंने हवाई अड्डा प्राधिकरण और सुरक्षा एजेंसियों को जानकारी नहीं दी थी.

ऐसी है जानकारी
 ‘जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल’ में शामिल होने के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस सांसद शशि थरूर जयपुर पहुंचे हैं. लेकिन अपने साथ एक पिस्टल भी लेकर वो प्लेन में चढ़े थे. जब वो सांगानेर एयरपोर्ट पर उतरे तो सुरक्षा अधिकारियों ने दूसरे यात्रियों की तरह उन्हें भी जांच के लिए रोक लिया. उनसे करीब 45 मिनट तक पूछताछ की गई. उन्होंने अपने पिस्टल का लाइसेंस दिखाया जिसके बाद उन्हें एयरपोर्ट से बाहर निकलने दिया गया. इस दौरान सुरक्षा अधिकारियों और उनके बीच काफी देर बहस भी हुई. एयरपोर्ट से निकलने के बाद शशि थरूर फेस्टिवल स्थल होटल दिग्गी पैलेस नहीं गए.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


फेस्टिवल का 11वां संस्करण शुरू
‘जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल’ का 11वां संस्करण आज से शुरु हो गया है जो 29 जनवरी तक दिग्गी पैलेस में चलेगा. इस साल इस पेस्टिवल में तकरीबन 35 देशों से 350 से भी ज्यादा लेखक, चिंतक, राजनेता, पत्रकार, सिनेमा, कला और संस्कृति जगत के लोग हिस्सा ले रहे हैं. इसमें से ज्यादातर लोग नोबेल पुरस्कार, मैन बुकर, पुलित्जर अवॉर्ड, पद्म विभूषण और साहित्य अकादमी जैसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित शख्सियत शामिल हैं, जो 15 से ज्यादा भारतीय और 20 अंतर्राष्ट्रीय भाषाओं का प्रतिनिधित्व करते हैं.

नहीं जाएंगे जावेद अख्तर और प्रसून जोशी
करणी सेना ने ये धमकी दी थी कि जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में अगर जावेद अख्तर और प्रसून जोशी आते हैं तो उनका भी वही हाल करेंगे जो संजय लीला भंसाली का किया था. जिसके बाद दोनों ने इस फेस्टिवल से किनारा कर लिया है.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...