जी हां, फतवे जैसी चीज का नाम सुनकर आप भी एकबारगी चौंक गए होंगे, लेकिन 16 साल की ये हसीना बिल्‍कुल नहीं डरी। सिर्फ यही नहीं अपनी सुरीली आवाज में ये तो तैयार है फतवा जारी करने वाले इन मौलवियों को खुली चुनौती देने के लिए। ये हैं नाहिदा आफरीन। वैसे फतवे जैसी खतरनाक बीमारी को चुनौती देने वाली नाहिदा पहली नहीं। इनसे पहले भी कई खलीफा ऐसे हुए जिनके नाम पर फतवा जारी हुआ है। इनमें से कुछ नाहिदा की तरह बिना डरे अपने मोर्चे पर डटे रहे। वहीं कुछ को मुंह की खानी पड़ी। आइए देखें कौन है वो…।     

 ‘दंगल गर्ल’ ने किसी तरह छुड़ाया था पल्‍ला

कश्‍मीरियों से माफी मांगने पर मचे विवाद के बाद ‘दंगल’ में गीता फोगट का किरदार निभाने वाली जायरा वसीम ने डरकर अपने फेसबुक पोस्‍ट डिलीट कर दिए। बता दें कि जायरा ने शनिवार को जम्‍मू-कश्‍मीर सीएम महबूबा मुफ्ती से मुलाकात की थी, जिसकी तस्‍वीरें सामने आने के बाद वह अलगाववादियों के निशाने पर आ गई थीं। तीखी प्रतिक्रिया देखकर जायरा ने फेसबुक पर माफीनामा जारी किया। मामला मीडिया मे आने के बाद जायरा ने सफाई देते हुए लिखा कि उनकी पिछली पोस्‍ट को लेकर उन्‍हें कोई आइडिया नहीं है कि यह इतना बड़ा मुद्दा क्‍यों बना।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


मोहम्‍मद शमी ने दिया था मुंह तोड़ जवाब

शमी ने अपने फेसबुक एकांउट पर अपनी पत्नी के साथ एक खूबसूरत फोटो अपलोड की थी, लेकिन उस वक्त स्थिति बेहद खराब हो गई। उस वक्‍त कुछ लोगों ने उनकी पत्नी हसीन जहान की स्लीवलेस ड्रेस को लेकर आपत्तिजनक कमेंट और आलोचना करनी शुरू कर दी। शमी के कुछ चाहने वालों को उनकी पत्नी की ड्रेस पसंद नहीं आई। इसपर उन्होंने इस्लाम और अल्लाह का हवाला देकर उन्हें इससे बचने की सलाह दी। अधिकांश कमेंट में कहा गया कि शमी यह सुनिश्चित करें की उनकी पत्नी लोगों के सामने हिजाब पहनकर ही आया करे। इसके बाद शमी ने अपनी और अपनी पत्‍नी की कुछ और तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा कि हर किसी को ये मुकाम नहीं मिलता. जलते रहो…ये मेरी जिंदगी और लाइफ पार्टनर हैं।

एआर रहमान ने दिया था जवाब

ईरान में 253 करोड़ रुपये की लगात से बनी फिल्म ‘मोहम्मद :  मेसेंजर ऑफ गॉड’ 18 अगस्त 2016 को रिलीज हुई। इसकी मध्य-पूर्व के देशों में मुस्लिम संगठनों ने तीखी खिलाफत की। बीते दिनों मुंबई के एक सुन्नी संगठन ने भी फिल्म में खुदा का मजाक बनाने का आरोप लगाया था। संगठन ने रहमान और माजिद मजीदी के खिलाफ फतवा जारी कर कहा था कि दोनों ने इस्लाम का अपमान किया है। संगीतकार एआर रहमान ने सफाई दी। उन्‍होंने विरोध जताने वालों के प्रति खुला पत्र जारी किया। अपने और फिल्म के प्रोड्यूसर माजिद मजीदी के खिलाफ जारी फतवे पर उन्‍होंने कहा कि उन्‍होंने ‘मोहम्मद :  मेसेंजर ऑफ गॉड’ का निर्देशन नहीं किया है। उन्‍होंने फिल्म में सिर्फ संगीत दिया है।

सलमान खान भी नहीं हैं पीछे

बॉलीवुड के दबंग भाईजान सलमान खान के घर पर ईद से लेकर दीवाली तक सारे हिंदू-मुस्लिम त्योहार पूरे उत्साह से मनाए जाते हैं। यहां तक कि अपने खिलाफ फतवा जारी होने के बावजूद सलमान हर साल गणेशोत्सव के मौके पर अपने. घर पर गणपति जरूर लाते हैं।

ऐसा हुआ नाहिदा के साथ

असम के कट्टरपंथी 40 से ज्‍यादा मौलवियों ने 16 साल की एक मुस्‍लिम गायिका के खिलाफ 46 फतवे जारी किए हैं। उनका मकसद इस सिंगर की गायकी को रोकना है। नाहिद आफरीन ने अपने खिलाफ सभी फतवों को नकारते हुए अपनी मर्जी से गायकी का फैसला लिया है। इतनी बडी़ लड़ाई अकेले लड़ने वाली नाहिद की ये ग्‍लैमरस तस्‍वीरें देखकर आप दंग रह जाएंगे।

ऐसी हैं नाहिदा

इनके बारे में बता दें कि 2015 में इंडियन आइडियल जूनियर की पहली रनरअप रही आफरीन के खिलाफ मौलवियों की फौज खड़ी हो गई। इस फतवे के मुताबिक, 25 मार्च को नाहिद को परफॉर्म करना है, जो पूरी तरह से शरिया के खिलाफ है। फतवे के अनुसार म्यूजिकल नाइट जैसी चीजें शरिया के खिलाफ हैं।

इंडियन आइडियल फेम हैं नाहिदा

आफरीन इंडियन आइडियल फेम है और फिल्म ‘अकीरा’ में सोनाक्षी सिन्हा के लिए गाना गाकर लोकप्रियता हासिल की थी। इसके बाद इनकी लोकप्रियता को आसानी से रोक पाना फिलहाल तो किसी के वूते का काम नहीं दिखाई देता।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...