भजनों के मशहूर गायक अनूप जलोटा के बारे में भला कौन नहीं जानता होगा, लेकिन जो उन्‍होंने किया उस बारे में शायद अभी कुछ ही लोग जान पाए होंगे। अब कोई और जान पाया हो या नहीं, सवाल तो ये है कि क्‍या इस बारे में राज ठाकरे को अभी तक खबर नहीं हुई। दरअसल खबर मिली है कि अनूप जलोटा पाकिस्‍तान में शो करके लौट आए हैं। नहीं यकीन होता आपको भी, आइए जानें इसे पूरी गहराई से।

ऐसी है जानकारी
गौरतलब है कि एक समय था जब भजन गायक अनूप जलोटा ने पाकिस्तान में कभी भी शो न करने की कसम खाई थी, लेकिन मानवता की खातिर अपनी इस कसम को भुलाकर अनूप ने इस सप्ताह पकिस्तान में ‘भगवद गीता’ के श्लोकों का उर्दू अनुवाद सुनाया।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


ऐसा है उनका मानना
दरअसल उनका मानना है कि इस विश्व को कुरुक्षेत्र में बदलने से रोकने के लिए ये उनका एक प्रयास है। बीते दिनों दिए एक इंटरव्‍यू में उन्‍होंने कहा कि ‘भगवद गीता’ में जीवन के सभी प्रश्नों के उत्तर हैं। उन्हें लगा कि उन मूल्यों का प्रचार करना बहुत जरूरी है। संगीतकार होने के नाते शांति, एकता और प्रेम का संदेश जो वो देना चाहते हैं वो सभी चीजें ‘भगवद गीता’ में सम्मिलित है।

ऐसा भी कहा उन्‍होंने
यही नहीं, इसके आगे उन्होंने ये भी कहा कि जब उर्दू बोलने वालों तक इस संदेश को संगीत द्वारा उर्दू में पहुंचाया जाएगा, तब इसका और भी ज्‍यादा गहरा प्रभाव पड़ेगा और ये आपको बदल देगा।

इसलिए फंस सकते हैं विवादों में
वैसे अनूप जलोटा का वहां शो करना इसलिए भी विवादों में फंस सकता है क्‍योंकि कुछ ही महीनों पहले मीका सिंह पाकिस्तान में कॉन्सर्ट करने वाले थे। इस बात की भनक जब महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना को लगी तो उन्होंने मीका को सीधे-सीधे धमकी देते हुए कहा था कि अगर उन्होंने पाकिस्तान में शो किया तो मुंबई में उन्होंने कोई भी कार्यक्रम करने नहीं दिया जाएगा।

उस वक्‍त की बात है ये
उरी में भारतीय सैनिकों पर हुए हमले के विरोध में मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने भारत में पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने पर रोक लगा दी थी। शाहरुख खान की फिल्म रईस’ में माहिरा खान और करण जौहर की फिल्म ‘ए दिल है मुश्किल’ में फवाद खान के काम करने पर उन्होंने आपत्ति जताई थी और फिल्म रिलीज में बाधा डालने की धमकी भी दी थी।

लोगों को है इस बात का इंतजार
इन सबके बावजूद अब अनूप जलोटा ने पाकिस्तान जाकर अपना कार्यक्रम किया। ऐसे में अब इसपर मनसे क्या प्रतिक्रिया देती है, ये देखने लायक होगा। अनूप ने कहा कि पाकिस्तान में उन्होंने व्यावसायिक रूप से कोई भी कार्यक्रम न करने की कसम खाई है, लेकिन ‘भगवद गीता’ और उसके भजन से 50,000 लोगों को प्रभावित करने की उनकी कोशिश इस विश्व शांति में अपना योगदान देने में उनकी मदद करेगी।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...