बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा की फिल्म फिल्लौरी पर सेंसर बोर्ड की कैची कुछ अनोखे ढंग से चली है. खबर है कि फिल्लौरी के एक सीन में एक्टर सूरज ने भूतनी अनुष्का को देख हनुमान चालीसा पढ़ी, लेकिन इसके बावजूद भूतनी वहां से नहीं भागी. सेंसर बोर्ड ने इस सीन पर कैची चलाई है.

कभी सोचा टीवी सीरियल को क्यों कहते ‘सोप’, आइये बताते हैं

क्यों चलाई सेंसर बोर्ड ने हनुमान चालीसा पर कैची?

सेंसर बोर्ड का कहना है कि हनुमान चालीसा पढ़ने से भूतों के नाश होने की मान्यता है, लेकिन फिल्म के उस सीन में सूरज के हनुमान चालीसा पढ़ने पर भी शशि यानी भूतनी वहीं मौजूद रहती हैं. फिल्म का यह सीन धार्मिक भावनाओं को भी आहत कर सकता है. इसी वजह से इस सीन को फिल्म से हटा देने का निर्देश है.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) ने फिल्म से हनुमान चालीसा को हटाने का आर्डर दिया है. इस वजह से अब इस फिल्म में हनुमान चालीसा की जगह एक्टर सूरज एक मंत्र पढ़ते हुए दिखाई देंगे, जो साफ़ सुनाई नहीं देगा.

इस बार प्यार के डिपार्टमेंट में नहीं मिला कपिल को ‘बाबाजी का ठुल्लू’

इसके अलावा सीबीएफसी ने फिल्म के एक और सीन में दख़ल दी है. इस सीन में एक साँप दिखाया गया है. बोर्ड का आदेश है कि इस सीन में एक स्क्रॉल चलाया जाए, जिसमें लिखा हो कि ‘इस सीन की शूटिंग के वक्त किसी असली सांप को नुकसान नहीं पहुंचाया गया है, यह केवल कंप्यूटर ग्राफिक्स है.’

ये फिल्म मुख्य रूप से अनुष्का शर्मा और दिलजीत दोसांझ की अधूरी प्रेम कथा को पूरी करने के ऊपर बनाई गई है. अनुष्का शर्मा इसमें एक भूतनी होती हैं, जिसकी प्रेम कहानी पूरी होने से पहले ही उसकी मौत हो जाती है और अंतिम इच्छा पूरी न होने पर वो भूत बन जाती हैं.

थलाइवा ने मारी एंट्री, बाहुबली हुए ढेर

जब एक मांगलिक लड़के की शादी इस भूत वाले पेड़ से होती है तो अनुष्का उस लड़के की पत्नी बन जाती हैं और तब इस बात का खुलासा होता है कि अनुष्का को अपनी प्रेम कहानी पूरी करनी है.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...