रिश्तों में नोक-झोंक होना आम बात है. पार्टनर्स में जेलेसी और छोटी-छोटी बात को लेकर नाराज़गी जताना नार्मल है. लेकिन ध्यान इस बात का देना चाहिए कि ये नोक-झोंक झगड़े का रूप न ले लें. जब रिलेशन में हर वक़्त झगड़ा ही होगा, तो ऐसे में उसमें कुछ ख़ास तो बचा नहीं है. आपके रिलेशन का बेस स्ट्रॉंग होना चाहिए. अगर ऐसा है, तो चाहे कितनी भी परेशानियां आ जायें, या चाहे कितने भी झगड़े हो जाएं, आपका साथ कभी नहीं छूटेगा.

आप अपने पार्टनर से बहुत प्यार करते हैं, और उससे किसी भी कीमत पर अलग नहीं होना चाहते, तो आपको तुरंत कुछ ऐसे कदम उठाने चाहिए जिससे उसकी नाराजगी दूर हो सके. ऐसे में कुछ ऐसे उपाय हैं जिसे आप ऐसे मौकों पर आजमा सकते हैं. आज हम आपको ऐसे ही कुछ नुस्खे बताने जा रहे हैं जिसे अगर आप अपनाते हैं तो आपके पार्टनर की नाराज़गी निश्चित रूप से दूर हो सकती है.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


लव रिलेशन: रिश्तों में खटास होगी दूर, अगर ईगो छोड़ फॉलो करेंगे ये स्टेप्स

नाराज़गी की वजह जो भी हो, ईगो को साइड में रख कर नॉर्मली अपने पार्टनर से बात करें और नाराज़गी की वजह पूछें. साथ ही खुद के बर्ताव पर भी गौर करें. आपकी जरा सी कड़वी बात उनके दिल पर गहरी चोट कर सकती हैं. अगर ब्रेकअप के लिए आप जिम्‍मेदार हैं, तो आपको माफी मांगने में जरा भी देर नहीं करनी चाहिए. माफी मांगते हुए इस बात का ध्यान का रखिए कि अपने पार्टनर को रिश्‍ते में लौटने के लिए मजबूर कतई मत कीजिए, बल्कि उसे सोचने के लिए कुछ वक्त जरूर दीजिए.

माना कि आपका अपने पार्टनर पर पूरा हक़ है. लेकिन इसका ये मतलब नहीं हुआ कि आप छोटी-छोटी बातें या बेफ़िजूल की बातों पर अपसेट हो जाएं, या फिर ज़रूरत से ज्यादा ही उनकी पर्सनल लाइफ में दखलंदाजी करें. हर रिलेशन में पार्टनर को स्पेस देना ज़रूरी है. किसी को भी नहीं पसंद कि कोई भी उसकी निजी ज़िन्दगी में ज़रूरत से ज्यादा ही घुसने की कोशिश करे. पार्टनर्स के लिए भी ये बात लागू होती है.

लव रिलेशन: अरेंज मैरिज भी लगेगी लव मैरिज जैसी, अगर फॉलो करेंगे ये 5 टिप्स

इसके अलावा अगर आपका पार्टनर आपसे बात नहीं कर रहा, तो उसे ईमेल या फिर टेक्स्ट मेसेजेस के जरिए अपनी बात समझाइए. अगर आप मजाकिया अंदाज वाले हैं, तो ऐसे में आपका ह्यूमर काम आ सकता है. मजाक की मदद से आप तनावग्रस्त माहौल को हल्का कर सकते हैं. इसके अलावा उसके सामने आप इस बात को भी साबित कीजिए कि आप उसे अक्सर याद करते रहते हैं. इसके बाद भी अगर आप रिश्ते को नहीं बचा पाते तो आपको उससे दोस्ती का रिश्ता तो जरूर बरकरार रखना चाहिए. क्या पता, दोस्ती निभाते-निभाते आप के प्रेम-संबंधों में फिर से जान आ जाए।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...