हर दिन कुछ कहता है। दिन विशेष के लिए राशियों की भाषा अलग-अलग होती है। आपकी राशि आपके लिए क्या कहती है, आपको इसे जानने की प्रबल इच्छा रहती है। 31 अगस्त को घर में खुशियों की एंट्री का क्या समय होगा, आइये जानते हैं। इसके अलावा ये भी कि आपकी राशि 31 अगस्त के बारे में क्या कहती है। इसके अतिरिक्त 31 अगस्त के दिन का शुभ मुहूर्त भी जानना चाहिए ताकि आप अपने शुभ कार्यों को उस समय में प्राम्भ कर सकें और अपने जीवन को सुखमय बना सकें।

विश्वास मानो, ये पांच राशियाँ आपको कभी नहीं देंगी धोखा

31 अगस्त


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


◆31 अगस्त का पंचांग◆

आपका दिन मंगल मय हो

31अगस्त दिन गुरुवार

ऋतु-वर्षा
माह-भाद्रपद
सूर्य-दक्षिणायन
सूर्योदय:-05:43
सूर्यास्त:-06:17
राहू काल(अशुभसमय)दोपहर
01:30से 03:00बजे तक
तिथि:-दशमी
पक्ष:-शुक्ल
दिशाशूल-दक्षिण

31 अगस्त को राशियों का प्रभाव

? मेष राशि :-

(ला, ली, लू, ले ,लो , चे, चो ,अ, कू)

आपका पूर्व विचारित कार्य सफल होगा। निजी सम्बंध प्रगाढ़ होंगे। विरोधी सक्रिय हो सकते है। पारिवारिक स्थिति उत्तमोत्तम होगी।व्यापार में वृद्धि होगी। किसी धाम के यात्रा का योग बन सकता है।

सुझाव:- आप दो मुखी रुद्राक्ष धारण करें व पारदेश्वर को भस्म अर्पित करें। लाभ होगा।
शुभरंग:- श्वेत

 

?वृष राशि :-

(वा, वी, वि, वू , वे ,वो ,ई ,उ, ए ओ)

आप स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें।आर्थिक मामलों में सुधार होगा। शासन सत्ता का सहयोग मिलेगा। जीवन साथी का सहयोग मिलेगा। शैक्षिक कार्यों में उन्नति होगी। पारिवारिक वातावरण उत्तम रहेगा।

सुझाव:- आप चौदह मुखी रुद्राक्ष हमेसा धारण करें व पारदेश्वर को मिष्ठान्न भोग लगावें आपका मंगल होगा।
शुभरंग:-हल्का लाल

 

? मिथुन राशि :-

(का,की कु, के, को हा, घ ,छ, )

आप व्यवसाय में सफलता मिल सकती है। चल अचल सम्पति के लिए कर्ज लेने का प्रयास सफल होगा। दाम्पत्य जीवन सुखमय होगा।भूमि व भवन का लाभ मिलने की सम्भवना बन रही है।

सुझाव:- आप पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करें व पारदेश्वर को दूर्वांकुर अर्पित करें उत्तम होगा।
शुभरंग:- सुनहला

? कर्क राशि :-

(डा, डी, डू, डे, डो, हे, हो,हू ,ही)

आप को शासन सत्ता का सहयोग मिलेगा। सुदूर यात्रा का योग बन सकता है।व्यापार में मध्यम लाभ मिलने की संभावना है। नौकरी निसन्देह प्रयाश से प्राप्त हो सकती है।

सुझाव:- आप छ मुखी रुद्राक्ष धारण करें व पारदेश्वर को उत्तम पारा का भोग लगावें उत्तम होगा।
शुभरंग:-धानी

?सिंह राशि :-

(मा, मी मू, मे, मो, टा, टि, टू, टै)

आप को उपहार सम्मान का लाभ मिलेगा। कृषि सम्बन्धित कार्यों में सफलता मिलेगी। शिक्षा में आ रही बाधाएं दूर होंगी। पारिवारिक सामंजस्य परिवार को अग्रशर करेगा।

सुझाव:- आप नौ मुखी रुद्राक्ष धारण करें व पारदेश्वर को अपामार्ग अर्पित करें उत्तम होगा।
शुभरंग:- श्वेत

 

??कन्या राशि :-

( पा, पि, पू, पे, पो ष, म्, ठ टो)

आप यात्रा से विशेष लाभान्वित हो सकते है। व्यवसाय के सुधरने से मन प्रसन्न रहेगा। आर्थिक दृष्टि कोण से दिन सामान्य रहेगा।सन्तान से यश मिलेगा।

सुझाव:-आप तीन मुखी रुद्राक्ष धारण करें व पारदेश्वर को कुशोदक से अभिषेक करें लाभ होगा।
शुभरंग:- फिरोजी

⚖तुला राशि :-

(रे, रो, रा, री, ता, ती, तू, ते)

आप को सुदूर यात्रा करनी पड़ सकती है। व्यापार से लाभ की संभावना बन रही है। व्यर्थ की चिंता से बचें। पारिवारिक अनुकूलता रहेगी।भाइयों से मन मुटाव हो सकता है।

सुझाव:- आप दो मुखी रुद्राक्ष धरण करें व पारदेश्वर पर विजया अर्पित करें लाभ होगा।
शुभरंग:-समुद्री हरा

?वृश्चिक राशि :-

(ना ,नी, नू ,ने ,नो ,तो, या ,यी ,यू)

आपका दिन धर्म मय हो सकता है।पारिवारिक जीवन सुख मय रहेगा। अधिक परिश्रम से सफलता की प्राप्ति होगी लेकिन वो स्थाई रहेगी।

सुझाव:- आप पाँच मुखी रुद्राक्ष धारण करें व परदेश्वर को मिश्री युक्त जलसे अभिषेक करें उत्तम होगा।
शुभरंग:- गुलाबी

 

?धनु राशि :-

(ये,यो,भा, भी,भू, भे, ध, फ,ढ)

आप धार्मिक वृति से ओतप्रोत रहेंगे। यात्रा पूण्य वर्धक होगी मित्रों से सहयोग मिलेगा। व्यवसायिक सफलता में अड़चनें आ सकती है। विरोधी सक्रिय रहेंगे।

सुझाव:- आप सात मुखी रुद्राक्ष धरण करें व पारदेश्वर को घृत से अभिषे करें आपका मंगल होगा।
शुभरंग:- नीला

?मकर राशि :-

(भे, जा,जी, जू जे जो खी, खू,खे, खो,गा, गी)

आपका दिन मंगल मय रहेगा। परिवार में मांगलिक कार्य संपादित होगा।व्यक्ति विशेष से लाभ की संभावना बन रही है। यात्रा से स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है।शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी।

सुझाव:- आप बारह मुखी रुद्राक्ष धारण करें व पारदेश्वर को गन्ने के रस से अभिषेक करें उत्तम होगा।
शुभरंग:-पीला

?कुम्भ राशि :-

(गू, गे, गो,सा,सी,सू से,सो,दा)

आप को पुत्र द्वारा सम्मान मिलेगा व आर्थिक पक्ष सुदृढ़ होगा। व्यापारिक स्थितियां उत्तम रहेंगी। कार्य क्षेत्र में प्रगीत मिलेगी। बहुत दिनों से रुके कार्य आपके पक्ष में होंगे।

सुझाव:-आज आप नौ मुखी रुद्राक्ष धारण करें व पारदेश्वर को दुग्ध अर्पित करें आपका मंगल होगा।
शुभ रंग:- हरा

 

?मीन राशि :-

(दी,दू,थ, झ, दे ,दो,चा, ची )

आप को आर्थिक लाभ व सामाजिक प्रतिष्ठा मिल सकती है। पड़ोसियों के सहयोग मिलेगा। अर्थ दशा में पूर्व के प्रति सुधार होगा। व्यवसायिक उलझनों के बाद भी आपका कार्य पूर्ण होगा।

सुझाव:- आप सात मुखी रुद्राक्ष धारण करें व पारदेश्वर को विल्बपत्र अर्पित करे।
शुभरंग:-लाल

 

।।दिन का विशेष महत्व।।

1. भाद्रपद माह शुक्लपक्ष दशमी तिथि है।
2. गुरौपूर्णासिद्धयोग है, दशावतार व्रत है।

।।प्रेरणा दाई चौपाई।।

सेवक सुत पति मातु भरोसें।
रहइ असोच बनइ प्रभु पोसें।।

अर्थ:- अनन्त बलवन्तश्री हनुमान जी श्री राम चरित मानस जी के किष्किंधा काण्ड में प्रभू श्री राम जी से निवेदन करते है कि हे प्रभू हमको तो केवल आप के चरणों का भरोसा है जिस प्रकार सेवक हो या बेटा हो , सेवक अपने मालिक के भरोसे और बेटा अपने माता -पिता के भरोसे हमेशा सोच रहित रहता है ,और मालिक उससेवक की व माता -पिता अपने पुत्र की रक्षा करते ही है उसी प्रकार प्रभू हम आपके भरोसे है।अस्तु “सच्ची सेवा सच्चा समर्पण हर व्यक्ति के अंतिम श्वांस तक उसकी रक्षा करता है।”

।। वास्तु टिप ।।

गृह प्रवेश के समय तुलसी का पौधा लगावें अपने ईष्ट देवकी तस्वीर व गाय का प्रवेश होना ,पानी से भरा कलश रखने से घर मे सुख शांति बनी रहती है।उस घर मे वास्तु दोष नही होता।

।।इति शुभम् ।।

।।आचार्य स्वामी विवेकानंद।।
।।श्री अयोध्या धाम।।
।।ज्योतिर्विद व श्री रामकथा, श्रीमद्भागवत कथा प्रवक्ता।।
संपर्क सूत्र:-9044741252

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...