गाय के गुण भारतीयों से ज्यादा कौन जानता है। लेकिन अब अमेरिका में भी गाय के फायदों पर चर्चा होने लगी है। गाय का इस्तेमाल सिर्फ खेती और दुग्ध पदार्थों के उत्पादन में नहीं किया जाता है। अमेरिका में हुए हालिया शोध के मुताबिक गाय के जरिए दुनिया की सबसे जानलेवा बीमारी एड्स को भी खत्म किया जा सकता है।

बीबीसी के मुताबिक, इंटरनेशनल एड्स वैक्सीन इनिशिएटिव और द स्क्रिप्स रिसर्च इंस्टिट्यूट ने गायों पर शोध किया था। इसके नतीजों में यह बात सामने आई है कि प्रतिरक्षा के तौर पर इन जीवों के शरीर में ऐसे विशेष एंडीबॉडी बनते हैं, जो एचआईवी को खत्म कर सकते हैं।

गाय का इस्तेमाल


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ ने इस शोध को बेहतरीन माना है। एचआईवी शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र पर हमला करता है और धीरे-धीरे एड्स में बदल जाता है। अगर एचआईवी का पता पहले स्टेज में चल जाए, तो गाय पर हुआ यह शोध कारगर साबित हो सकता है।

इस शोध के नतीजों के बाद ऐसी वैक्सीन पर भी बात चल रही है, जो मरीजों को संक्रमण के पहले स्टेज पर बचा ले। यह शोध करने वाले डॉक्टर केविन सोक ने बताया कि गायों में जरूरी एंटीबॉडी कुछ सप्ताह में बनते हैं, जबकि इंसानों में इसे विकसित होने में तीन से पांच साल लग जाते हैं। उन्होंने कहा कि किसे पता था कि गाय कभी एचआईवी एड्स जैसी बीमारियों से बचाव में काम आएगी।

नेचर नाम के जर्नल में एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई है, जिसके मुताबिक गाय की एंटीबॉडी एचआईवी के असर को 42 दिन में 20 फीसदी तक खत्म कर सकता है। वहीं, 381 दिनों में यह एंटीबॉडी 96 फीसदी एचआईवी को खत्म कर सकता है। हालांकि अभी यह जानना बाकी है कि एचआईवी को खत्म करने के लिए गाय से जो मदद ली जाएगी, उसका असर क्या होगा। विशेषज्ञों को यह आशंका भी है कि इससे गाय की सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...