सुर्खियों में रहने वाले भारतीय क्रिकेट कप्‍तान विराट कोहली एक बार फिर जोरदार चर्चा में आ गये हैं। विराट को इस बार अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की तरह बताया गया है।

ठोंको ताली कहने के लिए सिद्धू पा जी को अब चाहिए कानून का साथ

हुआ यूं कि भारत और आस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही टेस्ट श्रृंखला में मैदान पर खिलाडिय़ों ने जो नाटकबाज़ी की है उस पर आस्ट्रेलियाई मीडिया भड़क गया है।कप्‍तान कोहली ने बेंगलुरु में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के बाद आस्ट्रेलिया टीम की कड़ी आलोचना की थी और अप्रत्यक्ष रूप से उन्‍हें बेईमान कहा था। इसी बात से नाराज़ आस्ट्रेलियाई अखबार द डेली टेलिग्राफ ने कोहली पर लगातार कई गलत खबरें (फेक न्यूज) फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया।
अखबार ने लिखा है कि कोहली ने आस्‍ट्रेलियाई  कप्तान स्टीव स्मिथ पर लगातार हमले कर रहे हैं। साथ ही साथ कोहली ने स्मिथ को बेईमान भी बताया लेकिन उनहोंने इस संबंध में कोई सबूत पेश नहीं किए और माफी भी नहीं मांगी।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


अखबार ने लिखा है कि विराट कोहली विश्व खेल जगत के (अमेरिकी राष्ट्रपति) डोनाल्ड ट्रम्प हैं। राष्ट्रपति ट्रम्प की तरह कोहली ने अपने ऊपर लगे आरोपों से ध्यान भटकाने के लिए मीडिया पर दोष मढ़ा है।

आपको बता दें कि कोहली ने सोमवार को एक बार फिर आस्ट्रेलिया पर निशाना साधा और कहा कि रांची में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के बाद आस्ट्रेलियाई खिलाडिय़ों ने भारतीय टीम के फीजियो पैट्रिक फारहार्ट के प्रति असम्मान जताया।

स्कर्ट में क्रिकेट… यकीन नहीं होगा लेकिन 1934 में ये खेल ज़रा हट के था

कोहली ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, आस्‍ट्रेलिया के चार-पांच खिलाडि़यों ने पैट्रिक का नाम लेना शुरू किया। मैं नहीं जानता कि उन्होंने ऐसा क्यों किया। वह हमारे फीजियो हैं। उनका काम मेरा इलाज करना है। मैं इसके पीछे की वजह नहीं समझ पा रहा हूं। मैं समझ नहीं सकता। आपको उनसे पूछना चाहिए कि उन्होंने नाम क्यों लिया। तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन कोहली अपना कंधा चोटिल कर बैठे थे। वह पहले दो दिन मैदान से दूर रहे थे और तीसरे दिन बल्लेबाजी करने उतरे थे।

 

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...