टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को कोलकाता के ईडेन गार्डंस में खेले गए दूसरे वनडे मैच में हराकर सीरीज में 2-0 से बढ़त बना ली है। इस जीत के हीरो चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव और कप्तान विराट कोहली को माना जा रहा है। वास्तव में पूरी तरह से ऐसा नहीं है।

पहले ही रख दी थी जीत की नीव

इस जीत की नीव तो पहले ही रखी जा चुकी थी। कंगारुओं के खिलाफ 50 रनों से जीत दिलाने की यह नीव रखी थी टीम इंडिया के स्विंग गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने। 253 का लक्ष्य ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए ज्यादा नहीं था। वह भी तब जब क्रीज पर डेविड वार्नर जैसा बैट्समैन हो।

पहले पांच ओवर में दोनों ओपनर आउट

इसके बावजूद भुवनेश्वर ने टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई और पहले 5 ओवर में ही ऑस्ट्रेलिया के दोनों ओपनरों को पवेलियन भेज दिया। भुवनेश्वर ने 2 रन पर हिल्टन कार्टराइट (1) को बोल्ड किया और 9 रन पर डेविड वार्नर (1) को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच करवा दिया।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


भारत के पहले स्पिनर बने कुलदीप यादव, जिसने वनडे में जड़ी हैट्रिक

दबाव बनाने में कामयाब टीम इंडिया

इन्हीं शुरुआती झटकों से ऑस्ट्रेलियाई टीम पर विराट की सेना दबाव बना ले गई। वरना मैच का नतीजा कुछ और भी हो सकता था। भुवनेश्वर ने कोलकाता में 6.1 ओवरों में सिर्फ 9 रन देकर 3 विकेट झटके। इस दौरान उन्होंने दो मेडन ओवर भी फेंके।

दो बार कर चुके हैं ऐसा कारनामा

बताते चलें कि भुवनेश्वर कुमार वनडे क्रिकेट में 10 से कम रन देकर 3 या उससे ज्यादा विकेट लेने का कारनामा दो बार कर चुके हैं। उन्होंने 2013 में कैरिबियाई धरती पर ट्राई सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ 6 ओवर में 8 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किए थे।

विश्व विजेता ऑस्ट्रेलिया भी नहीं रोक पा रहा टीम इंडिया का विजय रथ, सीरीज में 2-0 से आगे

भुवनेश्वर कुमार के नाम बना रिकॉर्ड

यही नहीं, ऐसा करने वाले भुवनेश्वर कुमार भारत के पहले गेंदबाज बन गए हैं। पिछले दो सालों से भुवी के प्रदर्शन में निखार आता जा रहा है। मौजूदा समय में भुवनेश्वर कुमार वर्ल्ड क्रिकेट के बेहतरीन स्विंग गेंदबाजों में शामिल हैं।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...