डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के करतूतों का खुलासा एक-एक करके हो रहा है. साध्वियों के रेप केस में दोषी पाए गए बाबा राम रहीम के खिलाफ सबूत जुटाने के लिए सीबीआई को कम मशक्कत नहीं करनी पड़ी थी. जब डेरा प्रमुख राम रहीम पर शारीरिक शोषण का आरोप लगा था, तबसे ही उनके खिलाफ सबूत जुटाने का प्रयास किया गया.

1997 से 2002 के बीच डेरा छोड़ चुकीं 18 साध्वियों से बाबा रहीम के बर्ताव और चरित्र को लेकर पूछताछ की गयी थी. इन्हें कोर्ट में पेश होने के लिए भी कहा गया था जिसमें से सिर्फ 2 ही साध्वियां अदालत तक पहुंची. अपनी आपबीती में इन्होने बताया कि बाबा उन्हें गुफा में बुलाकर रेप करते थे.

गुरमीत राम रहीम को नहीं मिलेगी राहत, और भी मामलों में फैसला सुनाएगी अदालत


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


बाबा राम रहीम को लेकर और भी कई खुलासे किये गए हैं. साध्वी रेप केस और सीबीआई कोर्ट जजमेंट के बाद बदले हालात से जुड़े 10 नए खुलासे…

  • तीन लिस्ट में साध्वियों के नाम आये सामने

2002 में एक साध्वी की लिखी चिठ्ठी को लेकर पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने सीबीआई को जांच सौंपी थी. इस मामले में डेरा के मैनेजर इंद्र सेन से 1999 से लेकर 2002 तक की साध्वियों की लिस्ट मांगी गयी थी. पहली लिस्ट में 53, दूसरी में 80 और तीसरी में 24 साध्वियों के नाम सामने आये थे.

  • हॉस्टल से बुलाते थे लड़कियां

कई सालों तक बाबा की सेवा करने वाले रणजीत सिंह की बहन का मामला भी सामने आया है. रणजीत के साले परमजीत ने बताया कि रणजीत की बहन जुलाई 1999 में साध्वी बनी थीं. रोज़ रात को बाबा हॉस्टल से एक साध्वी को गुफा में बुलाया करते थे. एक दिन जब रणजीत की बहन ड्यूटी पर थी, तब उसने दो साध्वियों को गुफा में जाते देखा, जिसमें से एक ने उस रात के बाद तुरंत डेरा छोड़ दिया था.

  • गुफा से रोते हुए लौटती थीं साध्वियां

27 जुलाई 2006 को सीबीआई ने कुरुक्षेत्र की एक साध्वी का बयान रिकॉर्ड किया था, जिसमें बाबा के रेप करने की हरकत सामने आई थी. इसी तरह डेरा मेनेजर कृष्णा लाल ने 1999 का हादसे को याद करते हुए बताया कि संतरी की ड्यूटी के दौरान उन्होंने 2 साध्वियों को गुफा से रोते हुए निकलता देखा. एक और साध्वी से  रेप केस सामने आया था, जिसने बाद में डेरा छोड़ दिया था. अपनी प्रतिष्ठा और डेरे के असर के डर से साध्वियों ने अपना मुंह नही खोला था.

साध्वी ने बताया कि अगर वो या कोई और साध्वी गुफा में जाने से मना कर देती थीं, तो उन्हें भूखा रखा जाता था.

  • साध्वियों की बहन के साथ भी किया रेप

फतेहाबाद की पूर्व साध्वी का बयान रिकॉर्ड किया गया जिसमें उसने बताया की 1998 में उसने बतौर साध्वी ज्वाइन किया था. 6 महीने बाद उसकी बहन भी साध्वी बन गयी. साध्वियों की ड्यूटी दो शिफ्ट में बटी हुई थी. पहले 8-12 और फिर 12-4 तक. एक दिन रात 10 बजे बाबा ने उसे गुफा में बुला कर रेप किया. वो रोती-रोती हॉस्टल गयी. उस दिन उसे पता चला था कि उसकी बहन का भी बाबा ने बलात्कार किया है.

  • बायोमेट्रिक कोड से खुलता था गुफा का बेडरूम

राम रहीम अपने डेरे में ऐशो आराम की ज़िन्दगी जीता था. डेरे में उसके ऐशो आराम के लिए सारी सुविधाएं थीं. उनके लिए महंगी पोशाकें तैयार करवाई जाती थीं, जिन्हें बाबा खुद डिज़ाइन करवाते थे.

मर्द के लिए भी बेदर्द राम रहीम, रेप पर फैसले से ठीक पहले हुआ नया खुलासा

  • फायर ब्रिगेड के पानी में तेल मिलाकर की थी दंगो की साजिश

बाबा को कोर्ट में दोषी करार देने पर उनके गुंडे ने उन्हें छुड़वाने के लिए नयी साजिश रची थी. पुलिस थाने में मौजूद फायर ब्रिगेड में एक बॉक्स मिला था. ये बॉक्स आमतौर पर किसी फायर टेंडर में नहीं होता. प्लान ये था कि इसमें पेट्रोल डाला जाएगा. ये पेट्रोल में वहीँ से पानी में सप्लाई किया जाना था जिससे आग लगती. इससे हंगामा होता और पुलिस का ध्यान मामले पर टिका रहता. इस दौरान डेरा प्रमुख को भागने में आसानी होती.

  • राजनैतिक पार्टियों से जुड़े हुए थे बाबा राम रहीम

राम रहीम की सबसे कमज़ोर कड़ी उनपर चल रहे मुक़दमे ही थे. ये मुक़दमे उनकी छवि को बदनाम कर रहे थे. बाबा कई राजनैतिक पार्टियों से भी जुड़े हुए थे. यही वजह है कि जब भी चुनाव होते थे, तो तमाम राजनेता बाबा की चौखट पर जाकर माथा टेकते थे.

  • खेतों को शौचालय बना देते थे राम रहीम

डेरे के चारों ओर की ज़मीन को हासिल करने के लिए बाबा ने एड़ी चोटी का ज़ोर लगा दिया था. उनपर इलज़ाम है कि ज़मीन पाने के लिए वो लोगों को डराया धमकाया करते थे. उन्होंने 700 एकड़ की ज़मीन खरीदी थी. जिन लोगों ने बाबा को ज़मीन देने से इंकार किया था, उनकी ज़मीन को रातोंरात टॉयलेट बना दिया जाता था.

  • जेल में बेटी को साथ रखना चाहते थे राम रहीम

सीबीआई कोर्ट में रेपिस्ट साबित होने के बाद भी राम रहीम के तेवर नहीं बदले थे. पंचकुला सीबीआई कोर्ट में राम रहीम ने एप्लीकेशन दी थी, जिसमें उनके बीमार होने की बात शामिल थी. उनकी बेटी हनीप्रीती ने भी वकील के ज़रिये कहा था कि वह जेल में डेरा मुखी के साथ रहना चाहती हैं.

  • एमएसजी प्रोडक्ट्स का 600 करोड़ का टर्नओवर

राम रहीम के बेचे गए एमएसजी प्रोडक्ट्स पर मुसीबत के बादल मंडराने लगे थे. सरकार और प्रशासन की ओर से डेरा के सभी बैंक अकाउंट सील कर दिए गए थे. अपने कारोबार को मज़बूत करने के लिए गुरमीत राम रहीम ने 600 करोड़ के एमएसजी प्रोडक्ट्स लॉन्च किये

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...