दुनिया की सबसे वजनी महिला इमान अहमद ने अपना 37वां जन्मदिन मनाने के हफ्ते भर बाद ही दुनिया को अलविदा कह दिया। अबू धाबी में इलाज के दौरान सोमवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। बता दें कि कुछ महीने पहले ही इमान इलाज के लिए मुंबई भी आई थीं।

500 किलो पहुंचा वजन

एक वक्त में इमान का वजन 500 किलो तक पहुंच गया था, इसके कारण उन्हें दुनिया की सबसे वजनी महिला माना गया था। अबू धाबी के बुर्जील अस्पताल का कहना है कि इमान की किडनी ने काम करना बंद कर दिया था। उन्हें दिल संबंधी बीमारियां भी थीं।

…तो क्या सपना ही रह जाएगा इमान अहमद के लिए वजन घटाना


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


20 डॉक्टर रखे थे नजर

इमान को 20 डॉक्टरों की टीम की निगरानी में रखा गया था। वे लगातार इमान की सेहत पर नजर रखे हुए थे। फिर भी मिस्र की रहने वाली इमान आखिरकार जिंदगी की जंग हार गईं। इमान को बचपन से ही थायरॉयड था।

मुंबई में भी हुआ इलाज

कुछ महीने इमान को इलाज के लिए मुंबई के सैफी अस्पताल लाया गया था। इसके लिए उन्हें एयरलिफ्ट किया गया था। प्लेन से उतारने में क्रेन की मदद लेनी पड़ी थी। फिर ट्रक से अस्पताल पहुंचाया गया था।

11 साल की उम्र से दिक्कत

मिस्र की इमान अहमद का वजन 11 साल की उम्र से अचानक बढ़ने लगा। 25 साल तक इमान घर से बाहर नहीं निकल पाईं। उन्हें डायबिटीज, किडनी डिस्‍ऑर्डर, हाइपरटेंशन, थाइरॉयड, वाटर रिटेंशन, ऑब्‍स्‍ट्रक्‍ट‍िव और फेफड़ों की बीमारी हो गई।

सर्जरी के बाद घटा वजन

डॉक्टरों ने कुछ महीने पहले ही कह दिया था कि अगर इमान का वजन कम नहीं हुआ तो जीवन भी खतरे में पड़ सकता है। वजन कम करने के लिए इमान की सर्जरी की गई थी, जिससे यह 498 किलो से 250 किलो पर आ गया था।

सिर्फ एक घंटे की नींद

25 साल से बिस्‍तर पर रहने के कारण इमान अहमद के पैरों की मसल्‍स काफी कमजोर हो गई थीं। उसका भी इलाज चल रहा था। इमान को नींद की भी समस्‍या थी। भारत आने से पहले वह सिर्फ एक घंटा ही सो पाती थीं।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...