सोचकर देखिये कि एक बिजनेस एम्पायर को फर्श से अर्श तक पहुंचाना और फिर उसे मैनेज करना आसान बात नहीं है. 23.2 अरब डॉलर के कारोबार को मैनेज करने के लिए दिमाग की चूलें हिल जाती हैं. देश के बड़े उद्योगपति मुकेश अम्बानी समय-समय पर ये बात साबित करते रहते हैं कि अरबपति बनना हर किसी के बस की बात नहीं है.

किस बात के सबसे ताकतवर राष्ट्रपति, मुकेश अंबानी से पीछे रह गए डोनाल्ड ट्रंप

मुकेश अम्बानी का जवाब

हाल ही में इंडिया टीवी के कंसल्टिंग एडिटर राजदीप सरदेसाई ने मुकेश से मुलाक़ात की. दर्शकों के सामने उन्होंने उनके परिचय के रूप में कहा कि अगर एक शक्तिशाली व्यक्ति व्यक्ति की बात की जाए तो वो नरेन्द्र मोदी नहीं बल्कि मुकेश अम्बानी हैं.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


उन्होंने मुकेश से पुछा कि एक सबसे शक्तिशाली व्यक्ति के रूप में उनका परिचय उन्हें कैसा लगा? शायद जो जवाब उन्होंने दिया राजदीप ने उनसे उस उत्तर की कल्पना तो दूर-दूर तक नहीं की होगी. मुकेश ने बड़ी शालीनता से कहा कि वे राजदीप को बहुत गंभीरता से नहीं लेते हैं.

इंसान की बजाय सांप से करवाइए मसाज़, मिलेगी नई जिंदगी

उनकी बुद्धि किसी को भी अच्छे से हैंडल करने करने वाली है. ये बात दर्शाती है कि किसी से कुछ भी बोलने का कोई मतलब नहीं होता अगर वो व्यक्ति आपको हल्के में ले रहा हो, जैसा कि मुकेश ने राजदीप को लिया.

वैसे राजदीप के उत्तर से ये बात भी समझ में आई कि इतने बड़े कारोबार के मालिक को भी हंसी मज़ाक करना अच्छा लगता है. निश्चित रूप से राजदीप एक बड़े कद के पत्रकार हैं. लेकिन आपकी एक चूक आपको निरुत्तर कर देती है. राजदीप और मुकेश के मामले में भी कुछ इसी तरह का वाकया हुआ.

4जी का ज़माना हुआ पुराना, मुकेश भइया ने छेड़ा 5जी का तराना

वैस किसी को लपेटना अच्छी बात है लेकिन अब आप सावधान रहिएगा. ऐसा भी हो सकता है कि कोई मुकेश अम्बानी निकले और आपको फिर बगलें झांकनी पड़ जाए. समझे मियां.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...