चाइल्ड लाइन की सूचना पर पुलिस ने धीरज नगर की टी-2 कॉलोनी में 15 दिन से बंधक एक नाबालिग लड़की को रविवार सुबह मुक्त कराया।पीड़िता मूलरूप से झारखंड की रहने वाली है। पीड़िता के मुताबिक, 2 साल पहले उसकी नानी ने उसे 5 हजार रुपए में सुरेंद्र नाम के एक शख्स को बेच दिया था, जो उसे दिल्ली ले आया। इसके बाद आरोपी ने 2 साल तक उससे घरों में काम कराया और उसका बलात्कार भी किया।

चाइल्ड लाइन

जज़्बे को सलाम! माइनस 30 डिग्री में 18000 फीट पर जवानों ने फहराया तिरंगा


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


आरोपी ने नाबालिग को कुछ दिनों पहले 30 हजार रुपए में मिश्रा नाम के युवक को बेच दिया, जो उसे फरीदाबाद ले आया। पीड़िता का कहना है कि फरीदाबाद में भी सुरेंद्र व मिश्रा ने उसके साथ बलात्कार किया और घरों में काम करने के बदले मिलने वाले पैसे भी छीन लिए।

पीड़िता की आपबीती सुन फरीदाबाद पुलिस में हड़कंप है। वहीं महिला थाना पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। वहीं, पुलिस की एक स्पेशल टीम झारखंड रवाना हो गई है और दूसरी टीम फरीबाद में आरोपियों के ठिकाने पर दबिश दे रही है।

जानकारी के मुताबिक, शनिवार रात चाइल्ड लाइन की हेल्पलाइन से कॉल आई, जिसके बाद चाइल्ड लाइन की टीम सेक्टर-31 थाना पुलिस के साथ रविवार सुबह मौके पर वहां पहुंची और नाबालिग लड़की को बरामद किया। फिलहाल, पीड़ित लड़की अस्पताल में डॉक्टरों की देखरेख में है।

मामले को लेकर एसीपी (क्राइम अगेंस्ट विमिन) पूजा डाबला ने कहा है कि पीड़िता के बयान के आधार पर केस दर्ज कर जांच की जा रही है। हालांकि, अभी कोई भी आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं आया है।

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...