दो साध्वियों के रेप केस में राम रहीम को सजा हुए अभी 24 घंटे भी नहीं बीते कि हरियाणा पर फिर से संकट के बादल मंडराने लगे हैं. राम रहीम को कोर्ट द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद से ही हरियाणा पंजाब सहित पांच राज्यों के हालात बेहद नाज़ुक बनी हुए हैं. राम रहीम के समर्थकों ने जबरदस्त हिंसा का तांडव खेला. एक बार फिर हरियाणा वही खेल दोहराने के संकट से सहम रहा है.

राम रहीम को सजा के बाद फिर संकट

राम रहीम को सजा

जेल जाने के बाद हुए बाबा राम रहीम के और 10 बड़े खुलासे


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


दरअसल ये मामला कथित धर्मगुरु रामपाल का है. बीते बुधवार को सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल की कोर्ट में पेशी हुयी थी. 201, 426, 427 और 443 के तहत रामपाल पर कोर्ट ने 426 और 427 के तहत फैसला सुरक्षित रख लिया था. 426 और 427 के तहत रामपाल पर सरकारी कार्य में बाधा डालने और आश्रम में लोगों को जबरन बंधक बनाने के तहत मामला दर्ज है.

रामपाल पर मुकदमा

रामपाल के अलावा इस मामले में प्रीतम सिंह, राजेन्द्र, रामफल, वीरेंद्र, पुरुषोत्तम, बलजीत और राजकपूर ढाका आरोपी हैं. कबीर पंथी विचारधारा का समर्थक माना जानेवाला रामपाल देशद्रोह के मामले में हिसार जेल में बंद है.तीन साल पहले हिसार में हुए विवाद में रामपाल को गिरफ्तार किया गया था. इसके अलावा रामपाल पर 2006 में हत्या का केस दर्ज हुआ था. रामपाल स्वामी रामदेवानंद महाराज का शिष्य है.

रेपिस्ट राम रहीम पर फैसले के बाद सीएम खट्टर से फिर हुई गलती, हिली गद्दी

सिंचाई विभाग में जूनियर की नौकरी छोड़ रामदेवानंद के साथ सत्संग करने लगा. कमलादेवी नाम की एक महिला ने करोंथा में आश्रम बनाने के लिए रामपाल को ज़मीन दे दी. बंदी छोड़ ट्रस्ट की मदद से रामपाल ने 1999 में सतलोक आश्रम की नींव राखी थी. 2006 में रामपाल ने स्वामी दयानंद सरस्वती की लिखी एक किताब पर टिपण्णी कर दी थी. आर्यसमाज को ये टिप्पणी नागवार गुजरी और दोनों ओर के समर्थकों की हिंसक झड़प हुयी, जिसमें एक शख्स की मौत भी हो गयी थी. तत्कालीन एसडीएम ने 24 लोगों को गिरफ्तार भी किया था.

आर्यसमाजियों से झड़प

आर्य समाजियों के साथ 2013 में रामपाल समर्थकों की एक बार फिर हिंसक झड़प हुयी जिसमें 100 से ज़्यादा लोग घायल हुए और तीन लोगों की मौत हुयी थी. 5 नवंबर को हरियाणा-पंजाब कोर्ट ने रामपाल के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया. 10 नवंबर को उसे कोर्ट में पेश होना था, लेकिन समर्थकों ने अस्वस्थ बताकर गिरफ्तारी टलवा दी. रामपाल के कोर्ट में पेश न होने पर कोर्ट ने हरियाणा सरकार और प्रशासन को फटकार लगायी थी.

गुरमीत राम रहीम के जेल जाने पर राधे माँ ने साधा पीएम मोदी पर निशाना

आज उसी रामपाल की सजा का ऐलान होना है. राम रहीम के मामले में सजा के बाद हुयी हिंसा से लोग पहले ही आहत हैं. ऐसे में रामपाल समर्थक राम रहीम समर्थकों का कार्य न दोहरा पायें, इसके लिए शासन और प्रशासन पूरी तरह तैयारी किये हुए है. हिसार में धारा 144 लागू कर दी गयी है.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...