पॉपुलर मैगजीन प्लेबॉय के फाउंडर हघ हेफनर की मृत्यु हो गयी है. उनकी डेड बॉडी उन्ही के घर प्लेबॉय मेन्शन में मिली थी. 9 अप्रैल 1926 को शिकागो में जन्मे हघ ने प्लेबॉय मैगजीन की शुरुआत 1953 में की थी. दूसरी मैगजींस से अलग इसमें न्यूडीटी को जमकर परोसा जाता था. बावजूद इसके ये मैगजीन और हघ का काम पॉपुलर रहे. हघ हेफनर की कैसेनोवा इमेज थी.

हघ की लाइफ हिस्ट्री की बात करें, तो इस मैगजीन को शुरू करने का आईडिया उन्हें अपने पापा से मिला. हालाँकि, यहाँ कहानी में ट्विस्ट है. हघ के पापा मीडिया वर्ल्ड से जुड़े थे. समय-समय पर वो कल्चरल और सोशल मैटर्स पर आवाज़ उठाते थे. जब भी उन्हें कोई बात गलत लगती थी, वो खुल कर अपनी बात उस मामले में सामने रखते थे. सेक्सुअल फ्रीडम पर भी उनके विचार दूसरों से अलग थे.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


हघ शुरू से ही प्लेबॉय की लाइफस्टाइल जीते थे. अपनी इसी आदत को उन्होंने करियर के तौर पर स्थापित किया. 60-70 के दशक में जब इंटिमेसी पर लोग खुल कर बात नहीं करते थे, तब हघ ने अपनी मैगजीन के ज़रिये लोगों से न्यूडीटी पर खुल कर बात की. ये मैगजीन जितनी पॉपुलर रही, उतना ही कभी हघ ने आर्थिक तंगी भी झेली. लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी और अपने काम को जारी रखा.

इस मैगजीन का काम था पोर्नोग्राफी पर बात करना. हालाँकि, 2016 और 17 में हघ ने कुछ एक्सपेरिमेंट करने की भी सोची. अपने काम को नए लेवल पर ले जाने के लिए उन्होंने न्यूडीटी के अलावा कुछ ऐसी खबरें भी पोस्ट करनी चाही, जिसमें लोगों की दिलचस्पी हो. उनका लक्ष्य मार्केट में बिकते न्यूड इमेजेस को तवज्जो देने से कहीं ज्यादा था.

सिद्धार्थ मल्होत्रा ने ठुकराया सलमान खान वाली रेस 3 का ऑफर, ऐसी हो सकती है वजह

हेफनर न सिर्फ मैगजीन एडिटर थे बल्कि पोलिटिकल एक्टिविस्ट भी थे. सेक्सुअलिटी और ह्यूमर की तरफ उनका अलग नाज़रिया तो था ही, वो पॉलिटिक्स में भी एक्टिव रहते थे. हेफनर अपनी बीवी क्रिस्टल, बेटे डेविड, कूपर और मार्सटन और बेटी क्रिस्टी के साथ रहते थे.

ये भी देखें

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...