मध्‍य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान अमेरिका क्या गए, विवाद उनके पीछे पड़ गए। शिवराज अभी तक मध्‍यप्रदेश की सड़कों को अमेरिका से बेहतर बताने पर घिरे थे, लेकिन अब उन्हें अमेरिका में लोगों को खाना परोसते हुए देखा गया है। कहा जा रहा है कि यह सब मध्‍यप्रदेश में निवेश के लिए करना पड़ रहा है। अगर पीएम नरेंद्र मोदी राज्य को उसका हक देते, तो शिवराज को अपने हाथ से दूसरों को खाना नहीं परोसना पड़ता।

एयरपोर्ट पर स्वागत का वीडियो देखिये, दिल जीतने वाली बेटियों को पहचानने लगे हैं लोग

सीएम शिवराज सिंह चौहान


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


ऐसे किया जा रहा बदनाम

ट्विटर पर डॉ आनंद राय के नाम से वेरिफाइट हैंडल चलाने वाले शख्‍स ने शिवराज की इस फोटो के साथ उन्हें निरीह जैसा दिखाया है। लेकिन सच ये नहीं, कुछ और है।

ये है सच

इस तस्वीर का दूसरा पहलू भी है। शिवराज जिस महिला को खाना परोस रहे हैं, अमेरिकी संसद की सदस्य तुलसी गेबार्ड हैं। तुलसी मूल रूप से भारतीय हैं। इस लिहाज से शिवराज का उनसे मिलना गलत नहीं माना जा सकता।

शिवराज सिंह चौहान

तस्वीर का दूसरा पहलू ये है। शिवराज और तुलसी की मुलाकात के दौरान भाजपा नेता रा माधव भी मौजूद थे। शिवराज ने उन्हें भी खाना परोसा था। अब ये बताने की जरूरत नहीं कि राम माधव भारतीय हैं। शायद यह समझने में भी देरी नहीं करनी चाहिए कि जिस वजह से शिवराज पर निशाना साधा जा रहा है, उसे मेहमाननवाजी कहते हैं।

हालांकि सोशल मीडिया पर शिवराज के इस वाकये की आधी-अधूरी जानकारी शेयर कर उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। देखना दिलचस्प होगा कि कभी जिस भाजपा की सोशल मीडिया पर मजबूत पकड़ थी, वह इससे कैसे निपटती है।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...