हर बात पर पीएम नरेन्द्र मोदी की टांग खींचने वाले दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने अब नयी मुसीबत मोल ले ली है. केजरीवाल पर रिलायंस जियो के विज्ञापन का आरोप लग रहा है. उन्होंने इस बाबत ट्विटर पर एक तस्वीर शेयर की, जिसके बाद यह आरोप लगने शुरू हुए हैं.

थू थू थू… पढ़िए #दलित_विरोधी_केजरीवाल पर रेलमपेल ट्वीट

यह माजरा 28 जनवरी की सुबह का है. केजरीवाल ने एक अखबार का पेज शेयर किया. जिस पर केजरीवाल के रोड शो की बड़ी सी हेडिंग लगी थी. लिखा था, ‘केजरीवाल के रोड शो में उमड़ा जनसैलाब.’ केजरीवाल ने इसे शेयर करते हुए लिखा कि कांग्रेस के कैप्टेन के विधानसभा क्षेत्र में जबरदस्त रोड शो.

बात यहाँ तक होती तो कोई दिक्कत नहीं थी. लेकिन केजरीवाल ने जिस कंप्यूटर पर बन रहे इस पेज की खबर शेयर की, उस पर रिलायंस जियो का एक स्टीकर लगा था. बस, यही बात ट्विटरातियों को अखर गई और उन्होंने केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया.

@Atheist_Krishna हैंडल ने जियो स्टीकर पर ध्यान दिलाते हुए लिखा कि केजरीवाल तो अंबानी का एजेंट निकला.

@praveen_bajpai  ने अरविन्द केजरीवाल से पूछा कि रोड शो ठीक लेकिन जियो शो क्यों? कंपनी के प्रचार के लिए कितना चंदा लिया गया? क्या दिल्ली का मुख्यमंत्री अंबानी का एजेंट है? जवाब?

@sp_dash68  ने सीएम केजरीवाल पर तंज कसते हुए जवाब दिया, ‘अरविन्द केजरीवाल को लेने की गलती जियो कभी नहीं कर सकती है.’

बात यहीं ख़त्म नहीं हुई. @rishibagree  ने कहा कि अब केजरीवाल ने खुलेआम जियो कनेक्शन के इस्तेमाल पर ट्वीट किया है.

उन्होंने पूछा कि ये डील कितने में हुई है मिस्टर सीएम?

केजरीवाल के इस ट्वीट पर एक हज़ार से अधिक रीट्वीट हुए और दो हज़ार से ज्यादा लाइक आये. ज्यादातर ने केजरीवाल की भद्रा ही उतारी.

फजीहत का आलम ये रहा कि केजरीवाल इस बारे में अपनी कोई सफाई पेश करने की हिम्मत तक नहीं जुटा पाए.

वैसे केजरीवाल ने कंप्यूटर पर सिर्फ जियो ही नहीं लिखा था. ऊपर एक जगह आई लव इंडिया भी था… लेकिन ट्वीटरवालों ने तो उनसे ये हक ले ही लिया है.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...