दशहरे से ठीक एक दिन पहले चीन ने अपने मन का रावण जलाकर भारत की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया है। अभी डोकलाम का विवाद नहीं सुलझा है। ऐसे में चीन की यह कोशिश कितनी सच्ची है, यह कहना मुश्किल है। हालांकि चीन के राजदूत बॉलीवुड के गानों पर थिरक कर यह संदेश जरूर दे रहे हैं कि उन्हें भारत से दोस्ती पसंद है। दरअसल, नई दिल्ली के चीनी दूतावास में शुक्रवार को चीनी गणराज्य का 68वां सालगिरह मनाया गया। इस दौरान चीनी राजदूत लुओ हाओहुई ने हिन्दी गानों पर डांस किया। आयोजन में चीनी धुनों में भारतीय क्लासिकल डांसर्स ने भी लय मिलाई।

भारत की तरफ दोस्ती का हाथ

दोस्ती का हाथ

भारत और चीन की दोस्ती पर जोर देते हुए लुओ हाओहुई ने कहा, ‘यह समय है जब भारत और चीन एक ताल में चलें। हम एक और एक ग्यारह बन सकते हैं।’ उन्होंने कहा कि नई दिल्ली और बीजिंग को मिलकर पुराने पन्ने पलट देने होंगे। हम आपसी सहयोग की नई शुरुआत कर सकते हैं।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


उन्होंने कहा कि भारत और चीन के व्यापारिक रिश्‍ते और गहरे हो सकते हैं। इसके लिए दोनों देशों को कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने बीते दिनों हुई भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात को इस संदर्भ में बताया।

उन्होंने कहा कि दुनिया में चीन के चार आविष्‍कारों पर बात हो रही है। ये हैं बीजिंग से शंघाई की हाईस्पीड ट्रेन, अलीपे (पेटीएम), साइकिल शेयरिंग, ऑनलाइन शॉपिंग। चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। हम अपने देश को और बेहतर बनाने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। ऐसे में भारत का साथ मिलना सुखद ही साबित होगा।

उन्होंने बीते हफ्ते की अपनी पुडुचेरी यात्रा का भी जिक्र किया। लुओ हाओहुई ने कहा, ‘मेरे एक शिक्षक पुडुचेरी के अर‍बिंदो आश्रम में रहते हैं। उनके बुलावे पर मैं वहां गया था। मैंने देखा कि अर‍बिंदो आश्रम दोनों देशों के शैक्षिक और ऐतिहासिक रिश्‍तों के बीच पुल का काम कर रहा है।’

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...