कांग्रेस शासित राज्य कर्नाटक में पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद सोशल मीडिया वामपंथ और दक्षिणपंथ में बंट चुका है। केन्द्र की भाजपा सरकार को निशाने पर लिया जा रहा है क्योंकि कथित तौर पर गौरी लंकेश की हत्या में हिन्दूवादी संगठनों पर आरोप लग रहे हैं। गौरी लंकेश की हत्या के पीछे पुलिस ने उग्रवादी कनेक्शन भी खोजने की कोशिश की, लेकिन नाकामी हाथ लगी।

इस मामले में बुद्धिजीवी पत्रकारों के वर्ग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साध दिया है। वरिष्‍ठ पत्रकार बरखा दत्त तक सोशल मीडिया पर अपने ट्वीट से हलचल मचा रहे हैं। इस लिस्ट में अब एक और बड़ी महिला का पत्रकार का नाम शामिल हो गया है। इनका नाम मृणाल पांडे है, जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन से ठीक एक दिन पहले #JumlaJayanti हैशटैग करते हुए गधे की फोटो लगाई।

गौरी लंकेश की हत्या


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘#JumlaJayanti पर आनंदित, पुलकित, रोमांचित वैशाखनंदन।’ बताने की जरूरत नहीं कि यह ट्वीट नहीं, बल्कि देश के प्रधानमंत्री पर हमला था। ट्विटर पर मृणाल पांडे का ट्वीट सामने आते ही उन्हें ट्रॉल किया जाने लगा। लोगों ने सवाल पूछा कि आखिर एक पत्रकार के लिए देश के प्रधानमंत्री पर इस तरह से टिप्पणी करना कितना लाजिमी है।

मृणाल के ट्वीट को जबरदस्त तरीके से रिट्वीट किया गया। कई पत्रकारों ने भी उनके इस रवैये पर नाराजगी जताई। बदले में वरिष्‍ठ पत्रकार ने उन्हें ब्लॉक कर दिया। मृणाल पाण्‍डे ‘हिन्दुस्तान’ अखबार की समूह संपादक रह चुकी हैं। उन्होंने कांग्रेस के कार्यकाल में प्रसार भारती का जिम्मा अपने कंधों पर लिया था।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...