भारत के श्रवण कुमार के बारे में तो आपने सुना-पढ़ा होगा, पर वह किसी और युग की बात है। चीन में एक आधुनिक श्रवण कुमार भी रहता है। वांग कियू सात सालों से अपनी मां को कंधे पर लादकर इलाज के लिए अस्पताल ले जाते हैं।

54 साल के किसान हैं वांग कियू

मां को कंधों पर अस्पताल ले जाने वाले वांग कियू 54 साल के किसान हैं। कियू हर महीने ऐसे ही अपनी मां को इलाज के लिए अस्पताल ले जाते हैं। वांग हर महीने अपनी मां को रस्सी से अपने कंधों पर बांधते हैं। उन्हें कंबल उढ़ाते हैं।

मुंबई के गरीब बुजुर्गों के लिए मोदी बने श्रवण कुमार


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


पांच किमी दूर है अस्पताल

इसके बाद पांच किलोमीटर दूर अस्पताल ले जाते हैं। वांग का कहना है कि जब वह छोटे थे तब मां ने इसी तरह उनका ध्यान रखा। अब उनका फर्ज है कि मां का ख्याल रखें। वांग की मां को हाई बल्डप्रेशर की शिकायत है। वह पेट की गंभीर बीमारी से भी पीड़ित हैं।

2010 से हर महीने ले जाते ऐसे

इसकी वजह से उन्हें महीने में एक बार डॉक्टर को दिखाना पड़ता है। 2010 से पहले डॉक्टर वांग के घर आकर मां का चेकअप कर लिया करते थे। डॉक्टरों की संख्या कम हुई तो उनके लिए मां को हर महीने घर आकर देखना मुमकिन नहीं था।

बेटा कंस… अब बन जाओ श्रवण कुमार, वरना जीवन नैया नहीं लगेगी पार

भावुक इंसान ने खींची तस्वीरें

तबसे वांग अपनी मां को कंधों पर लादकर अस्पताल ले जाते हैं। इसी साल 16 अक्तूबर को एक आदमी ने वांग को अपनी मां को ऐसे ले जाते देखा तो वह भावुक हो गया। उसी ने वांग और उनकी मां की तस्वीरें खींच लीं। उस दिन वांग की मां को तेज बुखार था।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...