भाई गधे पर इतनी ज्यादा चर्चा सुन के हम तो क्या गधा भी पक गया होगा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, लालू यादव और आजम खां सब के सब ने यूपी चुनाव में जैसे गधे को टार्गेट कर रखा है. हमने सोचा इनको छोड़ो अपने ट्रंप साहब का हाल चाल जाना जाए. अब हमें क्या पता था कि वहां भी यहाँ के नेताओं की पुनरावृत्ति होने वाली है. गधा छोड़ा तो यहाँ घोड़ा मिला.

सिर्फ मोदी नहीं मायावती के भी दोस्त हैं ट्रम्प लेकिन स्वामी ने डिलीट किया सबूत

घोड़ा प्यार, ट्रंप सरकार

हुआ ये कि ट्रंप सरकार के इंटीरियर सचिव रायन जिंकी नियुक्त किये गये हैं. जो कि पूर्व नेवी सील अधिकारी हैं. बुधवार को अमरीकी संसद ने उनकी नियुक्ति की घोषणा की थी. गुरुवार को घोड़े पर सवार होकर वे अपने कार्यालय पहुंचे. रायन काउबॉय हैट और ब्लू जींस पहने एक लम्बे भूरे रंग के घोड़े पर सवार होकर जिंक अपने ऑफिस पहुंचे और कार्यभार संभाला.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


स्मार्ट तो हैं ही जनाब तो तस्वीरें भी निकालीं. उसके बाद उन्होंने ट्वीट किया, ‘बहादुर अमरीकी पार्क पुलिस के सामने खड़ा होकर सम्मानित महसूस कर रहा हूँ. अब काम के लिए चला जाए.’

अखिलेश को ठेंगा  हार्दिक ने किया अपनी बिरादरी के गुजराती गधों का ‘विज्ञापन’

अमरीका के सभी पार्कों, अभयारण्यों, गैस, तेल और टिम्बर जैसे प्राकृतिक संसाधनों की देखभाल रायन की ज़िम्मेदारी होगी. ट्रंप की तारीफ में उन्होंने कसीदे पढ़े. उन्हें महान राष्ट्रपति बताया. उन्होंने कहा कि अब वे अपने कमांडर इन चीफ के लिए लड़ने को तैयार हैं. रायन ट्रंप की 22 सदस्यों वाली कैबिनेट के 16वें सदस्य हैं.

अब आप कहेंगे कि मैंने तो अखिलेश कैबिनेट की समानता की बात की थी, पर यहाँ तो ऐसा कुछ नही है. तो भाई मेरे, बात ये है कि हमने समानता इसलिए कही कि अखिलेश के नेता मंत्री बने तो घोड़े पर सवार होकर ऑफिस आये. टीपू के सिपहसालार शाकिर अली जब मंत्री बने थे, तब पद ग्रहण करने के बाद घोड़े पर बैठकर घर गये थे.

Video : मोदी और रामदेव ने मिलकर बनाई ‘बाबा जी की बूटी’, मच गया तहलका

हुआ ये था कि मंत्रीपद ग्रहण करने के बाद जब वे अपने गृह जनपद देवरिया पहुंचे, तो रेलवे स्टेशन पर उनके समर्थक गाजे बाजे के साथ घोड़ा लेकर प्लेटफार्म पर ही पहुंचे गये. मंत्री जी भी खुश होकर इस शाही सवारी पर बैठ गये और बैठे हुए ही प्लेटफार्म से बाहर आये. पर हो गयी दिक्कत क्योंकि स्टेशन अधीक्षक ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया. आखिरकार मंत्री जी को ज़मानत करवानी पड़ी थी.

अच्छा हुआ जो ऐसा कुछ भी रायन के साथ नहीं हुआ. वरना ये ज़मानत वाली समानता भी जुड़ जाती.

आप लोग तो हम पे शक करने लगते हो. हम समानता बता रहे हैं आपको लगा मजाक कर रहे हैं.

आजम खां बोले : मुसलमान खाली बैठेगा तो क्‍या करेगा, बच्‍चे ही पैदा करेगा

अच्छा हुआ जो मैंने शक्तिमान की टांग तोड़ने वाले विधायक महोदय का नाम नहीं लिया वरना आप लोग तो बस मेरे पीछे ही पड़ जाते. वैसे वो विधायक भी मोदी जी की पार्टी के थे. अब देखो मोदी जी, अखिलेश यादव और अपने ट्रंप अंकिल में समानता मिली कि नहीं, वो भी घोड़ेवाली.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...