वो कहावत तो आपने सुनी होगी- खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे. कुछ यही हाल पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का है. हाल ही संपन्न हुए अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत ने पाक को सेमीफाइनल में धोया था. जिस पर अब टीम के मैनेजर नदीम खान ने अपनी टीम की भारत से हार पर अजीब बयान दिया. मियां नदीम साहब का कहना है कि ‘अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत से पाक की हार काले जादू का नतीजा भी हो सकती है.’

भारत के 9 राज्यों से हैं अंडर-19 वर्ल्ड कप के 11 हीरो, जानिये इनकी खासियत

पाक की हार काले जादू का नतीजा


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


दरअसल न्यूजीलैंड से वापस लौटने पर पाकिस्तानी टीम मैनेजर ने मीडिया में अपना ये बयान पेश किया है. वैसे क्राइस्टचर्च में 30 जनवरी को खेले गए सेमीफाइनल में भारतीय टीम ने पाकिस्तान को 203 रनों के बड़े अंतर से हराया था. शायद उसी वजह से उन्हें वो हार काली लगने के बजाय उसमें उन्हें काला जादू नज़र आया.

वैसे नदीम बाबू ने सिर्फ इतना कहकर दम नहीं लिया. वे इसके आगे बोले, ‘हम कॉन्फिडेंट थे कि ये करीबी मैच होगा. लेकिन, जैसे-जैसे मैच आगे बढ़ता गया… हमारी टीम 69 रनों पर ठस्स हो गई. ये देखकर ऐसा लगा कि टीम पर जादू कर दिया गया हो.’

नदीम ने आगे कहा, ‘ऐसा लग रहा था कि हमारे बैट्समैन को अहसास ही नहीं था कि मैदान पर क्या हो रहा है. कैसे हालात संभाले जाएँ और दबाव झेला जाए.’

पाक की हार काले जादू का नतीजा

नदीम मियां ये भी बोले, ‘ये सच है युवा पाकिस्तानी टीम में सुधार की जरूरत है. हमारी परफॉर्मेंस संतोषजनक थी, फिर चाहे हम सेमीफाइनल तक क्यों न पहुंचे हों. पिछली टीम के खिलाड़ियों की अपेक्षा मौजूदा यूथ टीम कई एरिया में कमजोर है.’

हालांकि नदीम मियां, राहुल द्रविड़ की तारीफ करने से नहीं चूके. उन्होंने कहा, ‘जिस तरह से द्रविड़ मैच के बाद हमारे ड्रेसिंग रूम में आए और खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाया वो काफी अच्छा था. इसने हमारी नजरों में राहुल द्रविड़ का कद और बढ़ा दिया.’

वैसे नदीम नदीम खान साहब की तारीफ़ ये है कि ये पूर्व पाकिस्तानी टेस्ट प्लेयर रहे हैं. बतौर स्पिनर उन्होंने मैच खेले हैं. 1999 में ये भारत दौरे पर भी आए थे. ख़ास बात ये कि नदीम खान पूर्व पाकिस्तानी विकेटकीपर बैट्समैन मोइन खान के बड़े भाई हैं. मोइन खान ने लंबे समय तक वनडे और टेस्ट मैचों में अपनी टीम के लिए खेला है.

वैसे, 30 जनवरी को न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में अंडर-19 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान और इंडिया के बीच सेमीफाइनल की बात करें तो भारत ने उसमें पहले बैटिंग करते हुए 272 रन बनाए थे. कैप्टन पृथ्वी शॉ ने 41, मनजोत कालरा ने 47, शुभमन गिल ने 102 और अनुकूल रॉय ने 33 रन की पारी खेली थी. पाकिस्तान की ओर से मो. मूसा ने 4 और अरशद इकबाल ने 3 विकेट भी लिए थे. लेकिन इस टार्गेट का पीछा करना पाकिस्तान के लिए भारी पड़ा था.

भारतीय युवा गेंदबाजों ने टारगेट का पीछा करते हुए पाकिस्तान की पूरी टीम को 29.3 ओवर में 69 रनों पर समेत दिया था. पाकिस्तान की ओर से रोहैल नजीर ने सबसे ज्यादा 18 रन बनाए थे. भारत की ओर से ईशान पोरेल ने 4, शिवा सिंह और रियान पराग ने 2-2 विकेट लेकर पाकिस्तान को शर्मनाक हार के लिए मजबूर कर दिया था.

अब नदीम मियां को इसमें काला जादू नज़र आये या पीला. लेकिन इसे क्रिकेट के जानकार तो यही कहेंगे कि, ‘नाच न आवे तो आँगन टेढ़ा.’

ये भी देखें:

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...