हाफिज सईद जैसे आतंकवादियों और आतंकी संगठनों को पाल-पोसकर बड़ा करने वाला पाकिस्तान अब खुद भी उनसे आजिज आ रहा है। इसे भारत समेत अंतरराष्ट्रीय दबाव कहें या कुछ और पाकिस्तान सच कबूल करने लगा है।

मुक्ति पाने में वक्त लगेगा

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने माना है कि आतंकी हाफिज सईद और लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकी गुट खुद उनके देश और दक्षिण एशियाई क्षेत्र के लिए बोझ हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि इनसे मुक्ति पाने के लिए कुछ वक्त लगेगा।

चीन ने माना पाकिस्तान में है आतंकवाद, कैसे पचेगा अजीज दोस्त का यह रुख


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


न्यूयॉर्क में कबूलनामा

न्यूयॉर्क में एशिया सोसायटी में एक कार्यक्रम में पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने हाफिज सईद का जिक्र करते हुए कहा कि वह नजरबंद है। हालांकि उनके देश में कई लोग ऐसे हैं, जो इलाके और देश के लिए बोझ हैं।

देश के लिए हैं संकट

उन्होंने कहा कि यह कहना बहुत आसान है कि पाकिस्तान हक्कानी नेटवर्क, हाफिज सईद और लश्कर-ए-तैयबा का समर्थन कर रहा है। वह मानते हैं कि ये लोग हमारे देश के लिए संकट है लेकिन हमें इस बोझ से मुक्ति पाने के लिए कुछ वक्त दीजिए।

आर्मी चीफ ने उड़ा दीं पाकिस्तान की धज्जियाँ, फिर सर्जिकल स्ट्राइक का ऐलान

आतंक के खात्मे की कोशिश

ख्वाजा आसिफ ने कहा कि पाकिस्तान आतंक को खत्म करने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहा है। इसे जड़ से खत्म करने में अभी समय लगेगा। बता दें कि लश्कर सरगना हाफिज सईद नवंबर 2008 में हुए मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड है।

अमरीका की भी थी शह

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा कि हक्कानी या हाफिज सईद के लिए केवल हमें दोष मत दीजिए। ये वे लोग हैं जो 20-30 साल पहले अमरीकी के खास हुआ करते थे। उन्होंने आरोप लगाया कि उस वक्त व्हाइट हाउस इनका स्वागत करता था।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...