मध्य प्रदेश के सिहोर में बेमौसम बारिश और ओले पड़े हैं. इससे फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है. इससे वहां के किसान परेशान हैं. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक अभी तीन-चार दिन और खराब मौसम का प्रकोप जारी रहेगा. वैसे, इससे बचने के लिए सिहोर के पूर्व भाजपा विधायक रमेश सक्सेना ने अद्भुत उपाय बताया है. उन्होंने सभी किसानों से हनुमान चालीसा का पाठ करने का अनुरोध किया.

‘पद्मावत’ कर रही है ताबड़तोड़ कमाई, करोड़ों की हो रही है बारिश

सिहोर में बेमौसम बारिश और ओले


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


भाजपा नेता का दावा है कि अगर हर गांव में एक घंटे हनुमान चालीसा का प्रतिदिन पाठ लोग करें तो इस प्राकृतिक आपदा से निपटा जा सकता है. इसके लिए उन्होंने लोगों से निवेदन किया कि पांच दिन तक प्रतिदिन एक घंटा हनुमान चालीसा का पाठ करें. सक्सेना ने ये भी कहा, ‘चूंकि वैज्ञानिकों ने बताया कि अगले चार से पांच दिन प्राकृतिक प्रकोप रहेगा. ओले के साथ-साथ बारिश होगी. इसलिए किसान भाई प्रतिदिन एक घंटा हुनमान चालीसा का पाठ करें तो लाभ होगा.’

सिहोर और इसके आसपास तेज हवा के साथ बेमौसम बारिश के साथ ओले भी पड़े हैं. इससे गेहूं और चने की फसल पर बुरा प्रभाव पड़ा है. इस समय किसान ये दोनों फसल खेतों में तैयार हो चुके होते हैं. दस दिन के अंदर होली के आसपास फसल की कटाई शुरू हो जाती है मगर ओलावृष्टि ने किसानों की सालभर की मेहनत पर पानी फेर दिया है.

भोपाल, सिहोर, विदिशा, होशंगाबाद सहित कई जिलों में लाखों हेक्टेयर में गेहूं और चने की फसल बर्बाद हुई है. ओले पड़ने से फसलों की फली के दाने निकल गए और खेतों में समा गए.

बीते 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश में हुई बारिश और ओलावृष्टि ने बड़े पैमाने पर फसल को नुकसान पहुंचाया. इसके अलावा बिजली गिरने से छह लोगों की मौत की भी सूचना है. फिलहाल सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के नुकसान की भरपाई का भरोसा दिलाया है.

ये भी देखें:

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...