गुजरात में सरकार बनाने के बाद नाराज चल रहे डिप्टी सीएम नितिन पटेल रविवार को कार्यभार संभालने मंत्रालय पहुंच गए। यह संभव हुआ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के फोन के बाद। उनसे बात करने के बाद पटेल ने नए मंत्रालयों का पदभार संभाल लिया है।

मनचाहे मंत्रालय न मिलने से थे नाराज

इससे पहले कहा जा रहा था कि मनचाहे मंत्रालय न मिलने से नितिन पटेल नाराज हैं। नितिन पटेल ने भी कहा कि गुजरात में सरकार बनने के बाद मुझे डिप्टी सीएम का पद दिया गया है। दूसरे स्थान के नेता को जो मंत्रालय दिए गए, वे सही नहीं थे।

गुजरात में गद्दारी पर नीतीश देंगे शरद यादव को इनाम


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


मुख्यमंत्री और अध्यक्ष से की शिकायत

उन्होंने कहा कि मुझसे वित्त और शहरी विकास मंत्रालय ले लिया गया जो ठीक नहीं है। इस बाबत नितिन ने राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और संगठन मंत्री को भी अपनी राय बता दी थी।

अमित शाह ने फोन कर पद संभालने को कहा

डिप्टी सीएम ने कहा कि रविवार सुबह साढ़े सात बजे अमित भाई ने मुझे फोन कर कहा कि आप पदभार संभाल लीजिए। उनकी ओर से मुझे आश्वासन दिया गया है कि मुझे जो उच्च स्तरीय मंत्रालय चाहिए थे उनको देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

बड़े भाई के पैर छून के लिए मोदी ने तोड़ा सुरक्षा घेरा, फिर वोट डाला

समर्थकों ने बंद बुलाने का किया था ऐलान

इससे पहले नाराज नितिन पटेल के समर्थकों ने मेहसाणा में एक जनवरी को बंद का भी ऐलान कर दिया था। साथ ही सरदार पटेल समूह के संयोजक लालजी पटेल ने शनिवार को नितिन पटेल को राज्य का सीएम बनाने की मांग की थी।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...