नोटबंदी के एक साल पूरे हो गए हैं। कई बार इसकी प्रासंगिकता पर सवाल उठाए जाते हैं। अब आयकर विभाग ने एक रिपोर्ट तैयार की है। 27 पेज की रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि देशभर में किस तरह से नोटबंदी के प्रभावों से बचने के लिए पुराने नोटों को किनारे लगाया गया।

आम लोगों के साथ-साथ बड़ी संस्थाएं भी शामिल

इस कवायद में आम लोगों के साथ-साथ बड़ी-बड़ी संस्थाएं भी शामिल थीं। आयकर विभाग की इस रिपोर्ट में कालेधन को छिपाने के लिए तरह-तरह के कारोबारियों द्वारा अपनाए गए हथकंडों का जिक्र किया गया है।

मोदी सरकार के लिए करिए ये छोटा सा काम, पाइए एक करोड़ का इनाम


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


कारोबारियों ने पिछली तारीख में की इंट्री

रिपोर्ट में सिर्फ संदिग्ध नकद जमा का खुलासा नहीं किया गया है, बल्कि इसमें यह भी बताया गया है कि किस तरह से कारोबारियों ने नकदी खपाने के लिए बैकडेट में अपने टैली सॉफ्टवेयर में इंट्री की। यह भी कि पेट्रोल पंप मालिकों ने अपनी डेली सेल को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाया।

छोटी-छोटी रकम में तैयार किए गए बिल

यही नहीं, इस दौरान शेल कंपनियों ने कालेधन को खपाने के लिए संदिग्ध एंट्री कीं। जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि ऑपरेशन क्लीन मनी के दौरान ज्वैलर्स और बुलियन ट्रेडर्स ने पैन कार्ड रिपोर्टिंग से बचने के लिए खरीद और बिक्री के बिल को छोटी-छोटी रकम में तैयार किया।

हर साल करोड़ों की कमाई, डेरा ने कभी टैक्स नहीं चुकाया भाई

परत दर परत ट्रांजेक्शन को दिया अंजाम

कारोबारियों ने कई परत में ट्रांजेक्शन को अंजाम दिया जिससे वास्तविक फायदा उठाने वाले व्यक्ति तक न पहुंचा जा सके। कई कारोबारियों ने भविष्य की सेल (फ्यूचर ट्रांजेक्शन) के नाम पर बड़ी मात्रा में पुरानी करेंसी बतौर एडवांस स्वीकार की।

बैंक अफसरों ने जनता के बदले अपने नोट बदले

और तो और देश के प्रमुख कोऑपरेटिव बैंक के बड़े अधिकारियों ने बैंक के करेंसी चेस्ट से नई करेंसी का इस्तेमाल अपनी निजी पुरानी करेंसी को बदलने के लिए किया। हालांकि यह नई करेंसी उन्हें ग्राहकों की पुरानी करेंसी बदलने के लिए दी गई थी।

ऑपरेशन क्लीन मनी के पहले और बाद की स्थिति अलग

ऑपरेशन के दौरान बैंकों में जमा हुए अधिक कैश के मामलों में 57.5 फीसदी मामले कारोबारियों द्वारा कैश में की गई बिक्री के रहे, वहीं जमा हुआ महज 20 फीसदी कैश उनकी नोटबंदी के ऐलान से पहले हुई बिक्री से इकट्ठा हुआ।

इसे भी जानें

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...