भारत और यहाँ रहने वाले भारतीयों को अपने देश पर गर्व करने का एक विशेष मौक़ा आया है. ये सब इस वजह से हुआ है क्योंकि हाल ही में वर्ल्ड बैंक ने एक लिस्ट जारी की है. इस लिस्ट के अनुसार भारत को कारोबारी माहौल उपलब्ध करवाने वाले देशों में 100वां स्थान हासिल हुआ है. लेकिन ज़रा भारत के उन शहरों की बात भी की जाए जिनमें कारोबार का बेहतर माहौल है. कारोबार के लिए बेहतर माहौल उपलब्ध करवाने वाले इन शहरों की सूची में 17 शहरों को शामिल किया गया है.

बिजनेस को सरल बनाने के मामले में भारत दुनिया के टॉप-100 देशों में हुआ शामिल

टॉप कारोबारी माहौल वाले भारत के शहरों की सूची

शहरों की सूची


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


लिस्ट पर नज़र डालें तो कारोबारी माहौल तैयार करवाने के मामले में लुधियाना ने टॉप किया है तो दूसरे नंबर पर हैदराबाद है. इस सूची में भुवनेश्वर को तीसरा स्थान हासिल हुआ है. इस सूची में भारत के अलग-अलग राज्यों के 17 शहरों को शामिल किया गया है.

भारत में बेहतर कारोबारी महौल वाले शहर

बेहतर कारोबारी माहौल वाले शहरों में लुधियाना, हैदराबाद, भुवनेश्वर, गुरुग्राम, अहमदाबाद, नई दिल्ली, जयपुर, गुवाहाटी, रांची, मुंबई, इंदौर, नोएडा, बैंगलुरु, पटना, चेन्नई, कोच्चि और कोलकाता क्रमशः शामिल हैं.

योगीराज में भी नहीं सुधरी यूपी की हालत

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यह जानकारी दी थी कि भारत इज ऑफ डूइंग बिजनेस में 100 वें स्थान पर पहुंच गया है. इससे पहले भारत 130वें स्थान पर था. भारत ने 30 अंको की छलांग लगाई है. भारत बेहतर करने वाले टॉप 10 देशों में है. वित्त मंत्री ने कहा कि वर्ल्ड बैंक ने भारत के प्रदर्शन की सराहना की.

बॉलीवुड के 5 सेलेब्रिटीज, जिन्होंने दूसरे बिजनेस से कमाई मोटी रकम

वित्त मंत्री ने बताया था कि, ‘छोटे शेयरधारकों की सुरक्षा के मामले में भारत चौथे स्थान पर पहुंच गया है. भारत बिजनेस के लिए क्रेडिट उपलब्ध होने में 29 वें स्थान पर पहुंच गया है. बिजनेस के लिए इलेक्ट्रसिटी कनेक्शन मिलने के लिए 29 वें स्थान पर पहुंचा. टैक्स भरने में भारत की रैकिंग 119 पर पहुंची.

सूटेड-बूटेड कुत्ता है कार कंपनी का मालिक, इसी के दम पर होता है बिजनेस

जेटली का कहना था कि, ‘हमने स्थिति में सुधार किया है. टैक्स सुधारों के कारण टैक्स देने में हम 172वें स्थान पर थे, अब हमने इसमें 53 अंक की छलांग लगाई है. रिजॉल्विंग इनसॉलवेंसी में 33 स्थान की छलांग लगाकर 103 पर पहुंचे. कुछ और सुधारों का असर आने वाले साल में दिखने लगेगा. हम अपनी स्थिति में सुधार करेंगे. कंस्ट्रक्शन परमिट के मामले में हम 8 अंको की छलांग लगाकर 181 वें स्थान पर आ गए हैं.

ओ तेरी ! यूएस के बिजनेसमैन ने मेनन के हाथ में रखे 1000 करोड़ रुपये और बोले अब करो महाभारत

जेटली ने बताया था, ‘कॉन्ट्रैक्ट लागू करने से इनमें और सुधार होने की उम्मीद है. रजिस्ट्रेशन ऑफ प्रॉपर्टी में 154 स्थान पर हम पहुंचे हैं. ट्रेडिंग अक्रॉस बॉर्डर आदि क्षेत्रों को ऑनलाइन किया जा रहा है. इन क्षेत्रों में काफी काम किया जा रहा है. आने वाले कुछ महीनों में इसका परिणाम दिखने दिखने लगेगा. हम ईज ऑप डूइंग बिजनस में 50 वें स्थान पर पहुंचने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं.’

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...