प्रधानमंत्री जी कोई भी अवसर हो, अक्सर किसी न किसी बहाने गाँधी जी को याद कर लेते हैं. स्वच्छ भारत का तो पूरा अभियान उन्होंने गांधी जी को समर्पित कर दिया. लेकिन उनकी तारीफ़ के बाद भी बापू गायब हो रहे हैं. एमपी को ही ले लीजिये जहाँ स्लोगन चलता है एमपी गजब है, पर भैया यहाँ नोट से गांधी जी गायब कर दिए गए हैं.

नोटबंदी का असर: चढ़ावा आया कम, अब भगवान के दरबार में होगी भरपाई

नोट से गांधी जी गायब हो गए

अरे भैया बापू के गायब होने का ये मामला नोट से जुड़ा  है. पहले कहते थे कि इस दुनिया में सब कुछ मिल सकता है बस आपके पास गांधी छाप नोट होना चाहिए. मतलब नोट पर गांधी जी का फोटो होना चाहिए.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


लेकिन मध्य प्रदेश के एसबीआई के एटीएम ने ये कहावत नहीं सुनी, और नए वाले 500 के नोट बिना गांधी छाप दे दिए. आदमी परेशान, क्योंकि बप्पा कहके भेजे थे, बेटे जा 500 के गांधी वाले नोट निकाल ला. लेकिन अब बापू को क्या जवाब देगा बेचारा. बहुत ही हलकान हो गया है.

मोरेना, मध्य प्रदेश के ये बाबू जी इन बिना गांधी वालों से बहुत परेशान हैं, क्योंकि जिस काम के लिए इन्होंने नोट निकाले थे, इनका वो काम भी लटक गया. क्योंकि एक तो इन्होंने ये नोट महीने के अंतिम शनिवार को एटीएम से निकाले, जिस दिन अब छुट्टी होती है. दूसरे दिन सन्डे था इसलिए इनके बारह बज गए.

पॉइंट टू बी नोटेड माय लार्ड, मुख्तार अंसारी को भी न्याय मिलेगा

संडे को प्रधानमंत्री जी आकाशवाणी पर मन की बात कर रहे थे और ये अपने नोट को देखकर अपना सिर पीट रहे थे. शिकायत के लिए भी इन्हें सोमवार बैंक खुलने तक रुकना पड़ेगा.

चलो भाई साहब फिर से लाइन में लग जाओ आप, क्योंकि आम आदमी लाइन के लिए ही बना है. आप भी माल्या होते तो आपका काम हो जाता.

वैसे ये नोट एटीएम में कहाँ से आये, किसने डाले ये सब अभी गोल-मोल है. जब पता चलेगा तो हम भी आपको बता देंगे. तब तक आप जाओ गर्मी बहुत है शरबत पियो जा के. लेकिन हाँ घर पर ही बनवाकर पीना, वरना बाहर ठेले वाला गांधी छाप मांगेगा, और आप तो बिना गांधी वाले हो. है न.

डेढ़ करोड़ का कोट पहनना चाहेंगे आप, तो लगाइए बोली!

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...