जोधपुर: सलमान खान के बेल के लिए वकील महेश बोहरा ने कहा कि बेल के लिए उनके पास 4-5 ग्राउंड हैं. गवाह विश्वसनीय नहीं है. हाईकोर्ट में परिस्थिति जन्य साक्ष्य बेकार साबित हुए हैं. बोहरा ने बताया कि बेल अप्लीकेशन 51 पन्नों की है. 54 बिंदुओं पर बात कही गई है. इसमें कहा गया है कि प्रत्यक्षगवाह पूनम चंद बिश्नोई पर ज्यादा भरोसा किया गया है. इसमें कहा गया है कि आधी रात के बाद जब चांद भी चला गया था तब अंधेरे में बिश्नोई ने सलमान खान को पहचाना कैसे. उन्होंने कहा कि बाकी सब को बरी कर दिया गया लेकिन सलमान खान को ही क्यों दोषी पाया गया. उन्होंने यह भी तर्क दिया कि राजस्थान हाई कोर्ट ने बाकी सब मामलों में सलमान खान को बरी कर दिया है. उनका कहना है कि सलमान खान हर बार कोर्ट की सुनवाई के दौरान मौजूद रहे हैं.

सलमान खान

बता दें कि सलमान खान को गुरुवार को जोधपुर की कोर्ट ने काला हिरण के शिकार के मामले में दोषी पाया था और उन्हें पांच साल की सजा दी गई है. बीती रात सलमान जोधपुर की सेंट्रल जेल में रहे हैं और अभी भी वहीं बताए जा रहे हैं. कोर्ट में सुनवाई के दौरान उन्हें यहां नहीं लाया गया है. जबकि कोर्ट में उनकी दोनों बहनें पहुंची हैं. इनके अलावा सलमान खान के बॉडीगार्ड शेरा भी पहुंचे हैं.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


फिर मिला सलमान खान को प्यार में धोखा, यूलिया ने इस एक्टर से रचाई शादी

गौरतलब है कि जोधपुर की अदालत ने दो काले हिरणों का शिकार करने के 20 साल पुराने मामले में पांच साल की कैद की सजा सुनाई थी. इसके साथ ही कोर्ट ने सलमान खान पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है. अदालत ने सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू, नीलम कोठारी को बरी कर दिया था. मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देव कुमार खत्री ने 1998 में हुई इस घटना के संबंध में 28 मार्च को मुकदमे की सुनवाई पूरी करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया था. जोधपुर कोर्ट के फैसला सुनाए जाने के समय सभी आरोपी कलाकार सलमान खान, सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम अदालत में मौजूद थे.

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...