संजय लीला भंसाली की पद्मावती पर भारत में तगड़ा विवाद चल रहा है। प्रदर्शन अटका पड़ा है। सेंसर बोर्ड ने अधूरे कागजात की वजह से निर्माताओं को फिल्म लौटा दी है। अब गुजरात सरकार ने भी इस पर बैन लगाने की घोषणा कर दी है।

ब्रिटेन के सेंसर बोर्ड ने किया पास

दूसरी ओर, ब्रिटेन में ऐसा नहीं है। वहां के सेंसर बोर्ड ने संजय लीला भंसाली की पद्मावती को पास कर दिया है। ब्रिटिश बोर्ड ऑफ फिल्म क्लासिफिकेशन ने दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर की फिल्म को एपिक ड्रामा कैटेगरी में 12ए सर्टिफिकेट दिया है।

लो जी! अब तो पद्मावती ने ले लिया फिरंगी को भी अपने लपेटे में


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


12ए सर्टिफिकेट के ये हैं मायने

इस सर्टिफिकेट के मुताबिक फिल्म 12 साल या उससे अधिक उम्र के व्याक्तियों को दिखाई जा सकती है। ब्रिटिश बोर्ड के नोट के मुताबिक 164 मिनट लंबी पद्मावती फिल्म हिंदी भाषा की एपिक ड्रामा है। इसमें एक सुल्तान राजपूत रानी को हासिल करने को आक्रमण करता है।

फिलहाल रिलीज नहीं करेंगे निर्माता

वहीं, फिल्म के निर्माता फिलहाल ब्रिटेन में फिल्म रिलीज करने के मूड में नहीं हैं।  उनकी इच्छा है कि भारत में फिल्म पास होने के बाद ही दूसरे देशों में इसे रिलीज किया जाए।

पद्मावती का विरोध बढ़ा तो दीपिका ने मोदी के कार्यक्रम से खुद को अलग किया

गुजरात ने भी की बैन की घोषणा

एक ओर, फिल्म अभी सेंसर बोर्ड से ही पास नहीं हुई है। भारत में इसे कोई सर्टिफिकेट नहीं मिला है, तो यहां लगातार बैन की घोषणाएं भी हो रही हैं। बुधवार को गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इसके प्रदर्शन पर रोक लगाने की घोषणा की।

इसलिए लिया गया फैसला ः रूपाणी

गुजरात के सीएम ने कहा कि फैसला क्षत्रीय और दूसरे संगठनों से बातचीत के बाद लिया गया है। तय हुआ है कि जब तक आपत्तियों का समाधान नहीं होगा, कानून-व्यवस्था को देखते हुए गुजरात में संजय लीला भंसाली की पद्मावती रिलीज नहीं की जा सकती।

यह भी जानें

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...