प्रिया प्रकाश को इस समय बहुत अच्‍छे से पहचान ही गए होंगे आप. इंटरनेट सेंसेशन प्रिया प्रकाश वारियर ने अपनी डेब्यू फिल्म ‘ओरु अदर लव’ के सॉन्ग ‘माणिक्य मलाराया पूवी’ से सोशल मीडिया पर काफी पॉपुलैरिटी हासिल की. इस गाने में उनकी नजाकत और आंख मारने के स्टाइल के चलते महज 10 दिनों उनके इस सॉन्ग को 34 मिलियन व्यूज मिले. एक तरफ जहां प्रिय रातों रात पॉपुलर हो गईं वहीं उनके सामने एक नई मुसीबत खड़ी हो गई. आपको बता दें कि उनकी फिल्म के इस गाने के लिरिक्स को लेकर मुस्लिम समाज ने आपत्ति जताते हुए हैदराबाद के फलकनुमा पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई थी.

बुधवार को होगी सुनवाई
अब इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में होनी है. पीटीआई की खबर के अनुसार अब प्रिया प्रकाश वारियर के इस केस की सुनवाई 21 फरवरी बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में होगी.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


लगाई थी सुप्रीम कोर्ट में गुहार
अपने इस सॉन्ग को लेकर कानूनी विवाद में घिरी प्रिया प्रकाश वारियर और फिल्म के मेकर्स ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और अपने खिलाफ दर्ज हुए एफआईआर को खारिज करने की मांग की. उन्होंने कलाकारों के राईट टू फ्रीडम एंड एक्सप्रेशन के हक की मांग करते हुए अपने खिलाफ दर्ज एआईआर को खारिज करने की अर्जी लगाई.

बुरी फंसी प्रिया
दरअसल ‘ओरु अदर लव’ के इस गाने के बोल पर अपना विरोध व्यक्त करते हुए मुस्लिम समाज के लोगों ने कहा कि इससे उनकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है. इसलिए हैदराबाद के अलावा रजा अकादमी के सेक्रेटरी ने मुंबई पुलिस में और जनजागरण समिति ने औरंगाबाद के जिंसी पुलिस स्टेशन में प्रिया और फिल्म के मेकर्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया था जिसको लेकर प्रिया प्रकाश वारियार और फिल्म के मेकर्स अब परेशानी में पड़ गए हैं.

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...