एक तो पहले ही रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और शाहिद कपूर स्‍टारर फिल्‍म ‘पद्मावती’ रिलीज होने से पहले ही बवंडरों में फंसी हुई है। उसपर ये देखो, इसी के एक्‍टर शाहिद कपूर ने ये क्‍या कह डाला अपनी ही फिल्‍म के बारे में, वो भी गोवा फेस्‍टिवल में। आइए, जानें ऐसा क्‍या कह दिया उन्‍होंने।

ऐसी है जानकारी
दरअसल सोमावार से गोवा में 48वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में भाग लेने के लिए शाहिद कपूर भी पहुंचे। इस मौके पर उन्‍होंने देश भर में संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर चल रहे विरोध के बारे में कहा है कि ये समय गुस्सा दिखाने का नहीं है। बल्कि वह शांत रह कर फिल्‍म के बेहतर भविष्य के प्रति आशान्वित हैं।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


पढ़ें इसे भी : शाहरुख ने खोला राज, अबराम बिग बी को समझते हैं अपना बाबा

हो गई शुरुआत
गौरतलब है कि नौ दिनों तक चलने वाले इस समारोह का सोमवार को आगाज़ हुआ। उद्घाटन समारोह पर मौजूद शाहिद कपूर ने रेड कारपेट पर मीडिया से बातचीत में कहा कि कुछ फिल्में इस तरह के मिज़ाज की होती हैं। थोड़ी पेचीदी, लेकिन वो तब तक पद्मावती को लेकर आशावादी हैं जब तक फिल्म रिलीज़ नहीं हो जाती।

मौके पर कहा ऐसा कुछ
शाहिद ने यहां ये भी कहा कि ये समय गुस्से में आने का नहीं है और न ही अपना आपा खोने का है। वैसे ऐसा बहुत सारे लोग कर रहे हैं, लेकिन वो एक प्रक्रिया में भरोसा करते हैं। उन्‍होंने उम्मीद जताई है कि पद्मावती इस संकट से बाहर निकल आएगी। ये एक ऐसी फिल्म है जिस पर हम सब को बहुत गर्व है और पूरा विश्वास है कि जब ये फिल्म लोग देखेंगे तो आजकल जो भी कुछ चल रहा है सब भूल जाएंगे।

पढ़ें इसे भी : तो अब सलमान खान को बॉडी मसाज देने का भी काम कर रहें हैं रणवीर सिंह

दीपिका को मिली धमकी पर वो बोले
दीपिका पादुकोण को दी गई धमकी पर शाहिद ने कहा कि ये बड़ी शर्मनाक बात है। इस तरह की हिंसक बातें अच्छी नहीं होती हैं। ये गलत बात है और उम्मींद है कि वे दर्शकों की आशाओं पर खरे उतरेंगे। हालांकि करणी सेना के बारे में किये गए सवाल पर शाहिद कपूर ने कहा कि वो किसी संगठन को लेकर कुछ नहीं कहना चाहते।

ऐसा है फिल्‍म में शाहिद का रोल
याद दिलाते चलें कि फिल्म ‘पद्मावती’ में शाहिद कपूर ने महारावल रतन सिंह का किरदार निभाया है। इतिहास (जायसी की पद्मावत के अनुसार) के मुताबिक उनकी रानी पद्मिनी से दूसरी शादी होती है। इसके बाद में वो अलाउद्दीन खिलज़ी से युद्ध में परास्त होकर मारे जाते हैं।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...