आइए आपको मिलवाएं बॉलीवुड एक्‍ट्रेस करिश्‍मा कपूर की एक पुराने को-स्‍टार से। 90 के दशक में इनके कुछ अलग ही जलवे हुआ करते थे। फिर अचानक वो न जाने कहां खो गए। सालों हो गए दर्शकों ने उनकी एक झलक भी नहीं देखी। दरअसल यहां बात हो रही है एक्‍टर हरीश कुमार की। जानना चाहते हैं कि अब आखिर कैसे लगने लगे हैं हरिश इतने सालों बाद और इस समय क्‍या कर रहे हैं वो। आइए, देखें।

90 के दशक में आए नजर
गौरतलब है कि हरीश कुमार 90 के दशक में आई कई बॉलीवुड फिल्मों में को-एक्टर के रूप में दिखाई दिए। उसके बाद जैसे वह इंडस्ट्री से गायब ही हो गए। याद दिला दें कि हरीश ने अपने एक्टिंग कॅरियर की शुरुआत बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट की थी।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


बने ऐसे पहले एक्‍टर
कहा जाता है कि हिंदी, तेलुगु, तमिल, कन्नड़ और मलयालम फिल्मों में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट काम करने वाले वे अब तक के इकलौते मेल एक्टर रहे हैं। उन्होंने बॉलीवुड और रीजनल भाषाओं की करीब 300 फिल्मों में काम किया है।

पढ़ें इसे भी : शॉर्ट ड्रेस में बीवी की फोटो क्‍या खींच ली, अभिषेक ने तो इनको धो डाला

बतौर लीड एक्‍टर किया काम
15 साल की उम्र में हरीश ने बतौर लीड एक्टर काम किया। बता दें कि उनकी पहली फिल्म मलयालम में बनी ‘डेज़ी’ थी। हरीश कुमार को करिश्मा कपूर की बॉलीवुड डेब्यू फिल्म ‘प्रेम कैदी'(1991) के लीड एक्टर के तौर पर भी जाना जाता है। इससे पहले हरीश बॉलीवुड की ‘संसार’ (1987) और ‘जीवन धारा’ (1982) जैसी कुछ फिल्मों में काम कर चुके थे।

इन फिल्‍मों में आए थे नजर
इसके अलावा हरीश ने नाना पाटेकर के साथ फिल्‍म ‘तिरंगा’ (1992) और गोविंदा के साथ ‘कुली नंबर 1’ (1995) जैसी फिल्मों में काम किया है। 90 के दशक में अपनी एक्टिंग से ऑडियंस को एंटरटेन करने वाला एक्टर 2001 में आई ‘इंतेकाम’ के बाद पर्दे से लगभग गायब हो गया।

पढ़ें इसे भी : लो, अब नवाजुद्दीन की पूर्व गर्लफ्रेंड ने उनके सिर पर तोड़ा मुसीबतों का पहाड़ 

गोविंदा के साथ भी आए नजर
हां, हालांकि गोविंदा स्टारर फिल्म ‘नॉटी एट 40’ (2011) से उन्होंने वापसी की कोशिश की, लेकिन फिल्म फ्लॉप रही। आखिरी बार वे 2012 की सुपरफ्लॉप फिल्म ‘चार दिन की चांदनी’ में दिखाई दिए थे।

कहीं वजन तो नहीं बन गया वजह
उसके बाद के लिए कहा जाता है कि हरीश कुमार अपने बढ़ते वजन को कंट्रोल नहीं कर सके। मोटापे की वजह से उनका लुक पूरी तरह बदल गया। इस वजह से उन्हें काम मिलना बंद हो गया। बॉलीवुड के बाद धीरे-धीरे रीजनल सिनेमा से भी उन्हें अवॉयड किया जाने लगा।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...