शरीर में किसी भी तरह का दर्द होने पर आइबुप्रोफेन की गोली खाना आम है। हालांकि कई बार हानिकारक भी साबित हो सकता है। इससे बचने के लिए ब्रिटेन स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ वॉरविक के वैज्ञानिकों ने एक पट्टी तैयार की है। इससे दवा को सीधे त्वचा में डाल दिया जाएगा।

पॉलीमर मैट्रिक्स से बनाई गई पट्टी

इस पारदर्शी पट्टी को पॉलीमर मैट्रिक्स से बनाया गया है, जो कि त्वचा पर चिपकने के लिए काफी है। पट्टी के कुल वजन में 30 प्रतिशत भार आइबुप्रोफेन का है। यह पट्टी 12 घंटे तक असर करेगी और दवा को सीधे दर्द वाली जगह पर पहुंचाएगी।

अब दवा की तरह निगल जाइए पासवर्ड और सुरक्षित रखिए अपनी ऑनलाइन दुनिया


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


साइड इफेक्ट की नहीं होगी आशंका

इससे पीठ के दर्द और गठिया जैसी बीमारियों में फायदा होगा और हार्ट अटैक और अन्य साइड इफेक्ट्स की आशंका भी कम हो जाएगी। मौजूदा समय में बाजार में यह दवा जेल फॉर्म में उपलब्ध है, लेकिन ज्यादा दर्द में ये मुश्किल से असर कर पाती है।

कड़वी दवा खाने में सिर्फ इंसानों की नहीं प्यारे पांडा की भी होती है ऐसी की तैसी, देखें वीडियो

यह होता है आइबुप्रोफेन से नुकसान

आइबुप्रोफेन एक नॉनस्टेरोयडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग (एनएसएआईडी) है। यह उन हॉर्मोन के उत्पादन पर लगाम लगाता है, जो शरीर में दर्द की वजह बनते हैं। इका सबसे बड़ा नुकसान यह है कि लंबे समय तक इसके इस्तेमाल से हृदयाघात का खतरा बढ़ जाता है।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...