हर दिन कुछ कहता है। दिन विशेष के लिए राशियों की भाषा अलग-अलग होती है। आपकी राशि आपके लिए क्या कहती है, आपको इसे जानने की प्रबल इच्छा रहती है। 4 फरवरी को घर में खुशियों की एंट्री का क्या समय होगा, आइये जानते हैं। इसके अलावा ये भी कि आपकी राशि 4 फरवरी के बारे में क्या कहती है। इसके अतिरिक्त 4 फरवरी के दिन का शुभ मुहूर्त भी जानना चाहिए ताकि आप अपने शुभ कार्यों को उस समय में प्राम्भ कर सकें और अपने जीवन को सुखमय बना सकें।

विश्वास मानो, ये पांच राशियाँ आपको कभी नहीं देंगी धोखा

1 नवम्बर

जानिया क्या कहते हैं आपके सितारे जानने के लिए पढ़ें अपना राशिफल

◆ 4 फरवरी का पंचांग◆

दिन रविवार
ऋतु-शिशिर
माह-फाल्गुन
सूर्य-उत्तरायण
सूर्योदय-06:32
सूर्यास्त-05:28
राहूकाल(अशुभ समय)शायं
04:30से 06:00बजे तक
तिथि-चतुर्थी
पक्ष- कृष्ण
दिशाशूल-पश्चिम व नैऋत्य
शुभदिशा-पूर्व व ईशान
अभिजितमुहूर्त-दोपहर 12:13 से 12:57तक
अमृतमुहूर्त-दोपहर 11:13 से 12:35 तक।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


4 फरवरी को राशियों का प्रभाव

मेष:-

आज कादिन आपके लिए उत्तम रहेगा। मानसिक शांति मिलेगी। धन का लाभ होगा। संतान सुख और व्यापार से सुख मिल सकता है।

सुझाव:-आज आप रुद्राक्षमाला का दान करें।

राशिरत्न:-मूँगा

शुभरंग:-श्वेत

वृष:-

आज आपका व्यापर सामान्य रहेगा।पराक्रम की वृद्धि होगी। प्रियजन से मिलाप होगा। घर में प्रसन्नता का वातावरण बनेगा। धार्मिक कार्यों में रूचि बढेगी। धन का लाभ होगा।

सुझाव:-आज आप बादाम का दान करें।

राशिरत्न:-हीरा,ओपल

शुभरंग:-चॉकलेटी

मिथुन:-

आज आपको अधिक परिश्रम से धनागमन हो सकेगा। व्यवसायिक परिजनों में सामंजस्य बनेगा। मान-सम्मान प्रतिष्ठा की वृद्धि होगी। राजकाज में प्रसिद्धि मिलने की संभावना है।

सुझाव:-आज आप मुनक्के का दान करें।

राशिरत्न:-पन्ना

शुभरंग:-नारंगी

कर्क:-

आज आपका दिन व्यापारिक कार्यों के लिए सामान्य रहेगा किंतु मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है। परिवार की समस्या का समाधान निकलेगा। धन का लाभ होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा का लाभ भी मिलेगा।

सुझाव:-आज आप हरी घासगाय को खिलावें।

राशिरत्न:-मोती

शुभरंग:-समुद्रिहरा

सिंह:-

आज व्यापर में मंदी रहेगी किंतु अपने परिश्रम से आपको मानसिक संतुष्टि मिलेगी। राजनीतिक लाभ मिलेगा। शत्रु परास्त होंगे। संतान की चिंता रहेगी। शिक्षा में प्रगति होगी।

सुझाव:-आज आप रक्त चंदन का दान करें।

राशिरत्न:-माणिक्य

शुभरंग:-श्वेत

कन्या:-

आज धन का आय से अधिक व्यय संभव है। दूर-समीप की यात्रा होगी। धार्मिक कार्य सम्पन्न होंगे। मित्रों का सहयोग मिलेगा।
कृषिकार्यों में सफलता मिलेगी।

सुझाव:-आज आप दूध का दान करें।

राशिरत्न:-पन्ना

शुभरंग:-बादामी

तुला:-

आज व्यापर में धन का लाभ होगा। अकस्मात कोई शुभ समाचार मिल सकता है । अच्छा समाचार मिलेगा। शिक्षा में प्रगति होगी। परिजनों का सहयोग मिलेगा।यात्रा से मध्यम लाभ मिलेगा।

सुझाव:-आज आप पीला फल दान करें।

राशिरत्न:-हीरा,ओपल

शुभरंग:-पर्पल

वृश्चिक:-

आज व्यापार में व आपके स्वास्थ्य में दोनों में सुधार होगा। यात्रा का योग बनेगा। कार्य में उत्साह बढेगा। सामाजिक लाभ मिलेगा।पारिवारिक वातावरण उत्तम रहेगा। मांगलिक कार्यों का शुभारंभ होगा।

सुझाव:-आज आप गुड़ व चना दान करें।

राशिरत्न:-मूँगा

शुभरंग:-धानी

धनु:-

आज आपको राजनीतिक लाभ मिल सकता है। शिक्षा में लाभ मिलेगा। धर्म कार्य सम्पन्न होंगे। परिवार की समस्या का निराकरण होगा।व्यक्ति विशेष से उत्तम सहयोग मिलेगा व सुदूर यात्रा सम्भव है।

सुझाव:-आज आप सवा किलो पीली सरसों का दान देवी मंदिर में करें।

राशिरत्न:-पुखराज

शुभरंग:-फिरोजी

मकर:-

आज धन का लाभ होगा। निर्माण कार्य में प्रगति होगी। मित्रों से सहयोग मिलेगा। कारोबार का विस्तार होगा।साझेदारों से सचेत रहें। यात्रा से कष्ट संभव है।

सुझाव:-सप्तधान्य का दान करें।

राशिरत्न:-नीलम

शुभरंग:-बादामी

कुम्भ:-

आज आपका अकस्मात व्यय का योग बन सकता है। यात्रा से कष्ट हो सकता है। कार्यों में रूकावट आ सकती है। धन का लाभ मिलेगा।पारिवारिक माहौल उत्तम रहेगा।

सुझाव:-काले जूतों का दान करें।

राशिरत्न:-नीलम

शुभरंग:-सुनहला

मीन:-

आज आपको धन का लाभ मिलेगा। व्यापार में वृद्धि होगी। नये काम की योजनाएं बनेगी। राजकीय कार्यों में सफलता मिलेगी। यात्रा से उत्तम लाभ मिलेगा।

सुझाव:-गेंहू का दान करें।

राशिरत्न:-पुखराज

शुभरंग:-पीला

।।आज के दिन का विशेष महत्व।।

आज शिशिर ऋतु फाल्गुन माह कृष्णपक्ष चतुर्थी तिथि है।

।।प्रेरणा दाईचौपाई।।

अब कछु नाथ न चाहिअ मोरे।
दीनदयाल अनुग्रह तोरे।।

अर्थ:-गोस्वामी तुलसीदास जी वर्णन करते है कि जब प्रभू श्रीराम भद्र केवट को गंगापार लाने की उतराई देने को उद्यत हुवे तो केवट ने बड़े आदर पूर्वक दण्डवत करते हुवे कहता है कि हे स्वामी अब इस दास को कुछ नहीं चाहिए यदि देना ही तो हे दीनदयाल आपका अनुग्रह सदैव मुझ दीन पर बनाये रखें।

“अस्तु परमात्मा से परमात्मा को माँगो उस से बढ़ कर पूरे अखिल ब्रम्हाण्ड में कुछ भी नहीं वहीप्रेम है, वही करुणा है, वही सत्य है।”

।।वास्तु टिप।।

शिक्षण संस्थान में प्रधानाचार्य, कुलपति अथवा मुख्य व्यक्ति का कार्यालय दक्षिण-पश्चिम के क्षेत्र में बनवाना चाहिए अन्यथा स्थानांतरण सदैव होता रहता है।

।।इति शुभम्।।

।।आचार्य स्वमी विवेकानन्द।।
।।ज्योतिर्विद, वास्तुविद व सरस कथा व्यास।।
।।श्री अयोध्याधाम।।
संपर्क सूत्र-9044741252

ये भी देखें:

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...