नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहीद दिवस के मौके पर भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को याद किया है। पीएम मोदी ने ट्वीट के जरिए वीडियो संदेश भी दिया है। आज ही के दिन 23 मार्च 1931 को अंग्रेजों ने भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेख को फांसी पर लटका दिया था। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव की शहादत हमारे इतिहास में एक ऐतिहासिक घटना थी। हर भारतीय को गर्व है कि ये तीन महान पुरुष हमारे देश से हैं। अपनी जवानी के शिखर पर वे अपने जीवन का बलिदान करते थे ताकि दूसरे स्वतंत्रता से जीवन जी सकें।’

चॉल में रहने वाले भी हैं नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की कंपनियों में डायरेक्टर!

शहीद दिवस


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


जेल में भगत सिंह ने करीब 2 साल रहे। इस दौरान वे लेख लिखकर अपने क्रान्तिकारी विचार व्यक्त करते रहे। जेल में रहते हुए उनका अध्ययन बराबर जारी रहा। उनके उस दौरान लिखे गये लेख व सगे सम्बन्धियों को लिखे गये पत्र आज भी उनके विचारों के दर्पण हैं। देश की आजादी के लिए जिस साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का मुकाबला किया, वह भुलाया नहीं जा सकता। इन्होंने केन्द्रीय संसद में बम फेंककर भी भागने से मना कर दिया। जिसके फलस्वरूप इन्हें 23 मार्च 1931 को इनके दो अन्य साथियों, राजगुरु तथा सुखदेव के साथ फांसी पर लटका दिया गया।

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...