पांच बार की वर्ल्ड चैंपियन, तीन बच्चों की मां भारतीय मुक्केबाजी की वंडर गर्ल एमसी मैरीकॉम ने एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीता तो पूरा देश खुशी से झूम उठा। उन्होंने पांचवीं बार यह खिताब अपने नाम किया है। बुधवार को वियतनाम में उन्होंने यह कारनामा किया।

कड़ी मेहनत से किया आलोचकों का मुंह बंद

31 साल की मैरीकॉम ने 2014 के बाद कोई स्वर्ण पदक जीता है। इस उम्र में भी बॉक्सिंग रिंग के अंदर मैरीकॉम की फिटनेस और तेजी देखने लायक होती है। इसके पीछे है उनकी कड़ी मेहनत और लगन, जो आलोचकों का मुंह बंद कर देती है।

पांच बार स्वर्ण पदक पर जमाया मुक्का

पांच बार की वर्ल्ड चैंपियन, लंदन ओलंपिक गेम्स में ब्रॉन्ज मेडलिस्ट मैरीकॉम अपनी फिटनेस के लिए कड़ी मेहनत करती हैं। वहीं, एशियाई खेलों में छह बार हिस्सा ले चुकीं मैरीकॉम ने पांच बार सोने पर पंच मारा तो एक बार रजत पदक जीता है।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


रिंग में उतरे नहीं और विजेंदर ने जड़ दिया चीनी मुक्केबाज को तमाचा

भारत को एशियाई चैंपियनशिप में सात पदक

इस साल भारत को एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में कुल सात पदक मिले हैं। इनमें एक स्वर्ण, एक रजत और पांच कांस्य शामिल हैं। भारत की सोनिया लाथेर को 57 किग्रा वर्ग में रजत पदक मिला। मैरीकॉम ने इस चैंपियनशिप में उत्तर कोरिया की खिलाड़ी को हराया।

मैरी कॉम ने जड़ा सोने का पंच, दक्षिण कोरियाई मुक्केबाज को पिला दिया पानी

राष्ट्रपति ने दी जीत की बधाई

मैरीकॉम की इस सफलता पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें बधाई दी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शाबाशी दी। राष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा कि एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने पर मणिपुर और भारत की गौरव मैरीकॉम को बधाई।

प्रधानमंत्री ने कहा, मैरीकॉम ने गौरवान्वित किया

प्रधानमंत्री ने अपने बधाई संदेश में कहा कि एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने पर एमसी मैरीकॉम को बधाई। भारत आपकी उपलब्धि पर बहुत गौरवान्वित है।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...