वर्ल्ड पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप-2017 में करमज्योति दलाल ने डिस्कस थ्रो में भारत को एक और मेडल दिलाया है। वूमेंस एफ55 कैटेगरी में दलाल ने अंतिम क्षणों में उन्होंने 19.02 मीटर से बहरीन की अलोमरी रोबा (19.01 मीटर) को पीछे छोड़ दिया।

मेडल

दुबई में की थी वापसी

पिछले साल रियो पैरालिंपिक में दलाल खास कुछ नहीं कर पाई थीं। हालांकि 30 साल की खिलाड़ी ने इसी साल मार्च में वापसी की थी। दुबई में हुई फजा इंटरनेशनल आईपीसी इंटरनेशनल एथलेटिक्स ग्रांड प्रिक्स में उन्होंने गोल्ड मेडल जीता था।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


सुंदर सिंह ने की शुरुआत

इसके पहले वर्ल्ड पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में जेवेलिन थ्रो में सुंदर सिंह गुर्जर ने गोल्ड मेडल जीतकर भारत का खाता खोला था। इसके दो दिन बाद अमित सरोहा ने क्लब थ्रो की एफ-51 कैटेगरी में सिल्वर मेडल जीता था।

मेडल

कबड्डी की खिलाड़ी रहीं

मूलतः कबड्डी की खिलाड़ी रहीं दलाल को छत से गिरने के बाद खेल छोड़ना पड़ा था। इसके बाद 2014 में उन्होंने डिस्कस थ्रो में शुरुआत की और दो ही साल में विश्व की टॉप-10 खिलाड़ियों में शुमार हो गईं।

जियो राजा! फर्स्ट ग्लोबल रोबोटिक्स में भारतीय छात्रों ने कर दिया कमाल

सरकार की मोहताज नहीं

वर्तमान में आठवें नंबर की खिलाड़ी दलाल को आईपीसी पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप-2015 में चौथा स्थान मिला था। किसी सरकारी मदद के बिना दलाल ने बीजिंग में 2014 में हुए एशियन गेम्स में दो ब्रॉन्ज मेडल जीते थे।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...