साइना नेहवाल और पीवी सिंधु आमने-सामने हों और मामला राष्ट्रीय चैंपियनशिप का हो, तो रोमांचक मुकाबले की सबको उम्मीद रहती ही है। बुधवार को भी ऐसा ही हुआ। हालांकि, पीवी सिंधु को सीधे गेम में हरा कर साइना ने सीनियर राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप का महिला एकल खिताब अपने नाम कर लिया।

सिंधु ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में हार का बदला लिया, नोजोमी को हरा इतिहास रचा

साइना-सिंधु के नारे गूंजे

नागपुर में साइना नेहवाल और सिंधु फाइनल मुकाबले में एक-दूसरे के सामने थीं, तो खेल का रोमांच अपने चरम पर था। पूरा स्टेडियम ‘साइना सिंधु इंडिया’ के नारे से गूंज रहा था। मैच में दोनों ने निराश नहीं किया और अच्छे शॉट खेले।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


54 मिनट चला मुकाबला

इस मैच में बाजी मारी दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी साइना नेहवाल ने। उन्होंने 54 मिनट तक चले मुकाबले में सिंधु को पस्त कर दिया। 27 साल की साइना ने रोमांचक फाइनल में ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप रजत पदकधारी सिंधु पर फाइनल में 21-17 27-25 से जीत दर्ज की।

प्रणय ने श्रीकांत को दी मात

वहीं, एचएस प्रणय ने शीर्ष वरीय और दुनिया के दूसरे नंबर के किदाम्बी श्रीकांत को 49 मिनट तक चले मुकाबले में 21-15 16-21 21-7 से हरा कर टूर्नामेंट के 82वें चरण का पुरुष एकल खिताब अपने नाम कर लिया।

वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में सिंधु को रजत, भारत ने रचा इतिहास, मोदी हुए गदगद

इन्होंने भी कर दिया कमाल

इसके अलावा अश्विनी पोनप्पा ने सत्विकसाईराज रंकीरेड्डी के साथ मिलकर मिश्रित युगल और एन सिक्की रेड्डी के साथ मिलकर महिला युगल खिताब की दो ट्रॉफियां जीतीं। दूसरे वरीय मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी ने एक गेम से पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए शीर्ष वरीय सत्विक और चिराग शेट्टी को 15-21 22-20 25-23 से हराकर पुरुष युगल खिताब अपने नाम किया।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...