मुंबई: भारतीय नौसेना में जल्द ही समंदर में दुश्मनों के छक्के छुड़ाने के लिए स्कॉर्पीन श्रेणी का एक नया पनडुब्बी शामिल होने जा रहा है.  इस पनडुब्बी का नाम ‘करंज’ है जिसको 31 जनवरी को मुंबई के मझगांव डॉकयार्ड से लॉन्च किया जाएगा. इस मौके पर नेवी प्रमुख सुनील लांबा मझगांव डॉकयार्ड पर मौजूद रहेंगे. इस पनडुब्बी को मझागांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड ने तैयार किया है. कई चरणों की समुद्री परीक्षण के बाद इसे भारतीय नौसेना बेड़े में शामिल किया जाएगा. नेवी के मुताबिक यह पनडुब्बी ‘मेक इन इंडिया’ की पहचान है, क्योंकि यह स्वदेशी समरीन है.

नौसेना

स्कॉर्पीन पनडुब्बी करंज की खूबी

स्कॉर्पीन पनडुब्बी करंज आधुनिक फीचर्स से लैस है. यह दुश्मन की नजरों से बचकर सटीक निशाना लगा सकती है. इसके साथ ही टॉरपीडो और एंटी शिप मिसाइलों से हमले भी कर सकती है. इससे पानी के अंदर भी हमला किया जा सकता है. साथ ही सतह पर पानी के अंदर से दुश्‍मन पर हमला करने की खासियत भी इसमें है. इस पनडुब्‍बी को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि इसे किसी भी तरह की जंग में ऑपरेट किया जा सकता है. यह पनडुब्बी हर तरह के वॉरफेयर, एंटी-सबमरीन वॉरफेयर और इंटेलिजेंस को इकट्ठा करने जैसे कामों को भी बखूबी अंजाम दे सकती है.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


ब्रिटिश कार कंपनी एमजी मोटर्स 2018 में देगी भारतीय कार बाज़ार में दस्तक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई में पिछले साल 14 दिसंबर को भारतीय नौसेना को देश की स्कॉर्पीन श्रेणी की पहली स्वदेशी पनडुब्बी आईएनएस कलवरी समर्पित की थी. प्रधानमंत्री ने इसे भारत की रक्षा और सुरक्षा को बढ़ावा देने वाला एक महत्वपूर्ण नया युग कहा था. इस नई फॉक्सटॉट श्रेणी की पनडुब्बी का नाम आईएनएस कलवरी रखा गया है. आईएनएस आठ दिसंबर, 1967 को नौसेना में शामिल हुई थी. नौसेना की पनडुब्बी शाखा की स्वर्ण जयंती के कुछ समय बाद ही यह नई पनडुब्बी बेड़े में शामिल हुई है.

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...